छत्तीसगढ़ में राजनीति: कोरोना की तीसरी लहर के बीच शराब और शिक्षा पर भाजपा ने उठाए सवाल

0
116

रायपुर । राज्य में कोरोना के लगातार बढ़ रहे मामलों के बीच राजनीतिक दलों में शिक्षा और शराब को लेकर सियासी घमासान मच गया है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि कोरोना संक्रमण काल में घर-घर शराब भिजवाने और आनलाइन शराब मुहैया कराने वाली सरकार विद्यार्थियों से परीक्षा फार्म आफलाइन भरवा रही है। छात्रों के भविष्य को देखते हुए आनलाइन परीक्षा फार्म भराया जाए। भाजपा ने इसके लिए इंटरनेट मीडिया पर कैंपेन भी चलाया है।

साय ने कहा कि उत्तर प्रदेश और पंजाब की राजनीतिक नौटंकियों में मशगूल मुख्यमंत्री भूपेश बघेल राज्य के लोगों की कतई चिंता नहीं कर रहे हैं। प्रदेश की जनता एक बार फिर कोरोना संक्रमण की त्रासदी केवल और केवल प्रदेश सरकार के नकारापन के कारण भोगने के लिए विवश है। यह बेहद लज्जाजनक है कि लाकडाउन और कोरोना की दोनों लहरों के भयावह दौर में शराब प्रेमियों को आनलाइन शराब मुहैया कराने वाली प्रदेश सरकार को यह नजर नहीं आ रहा है कि छात्र भीड़ लगाकर कैसे आफलाइन फार्म भर रहे हैं। ऐसा कर सरकार छात्रों की सेहत से खिलवाड़ कर रही है। छात्र आफलाइन फार्म भरने को मजबूर हैं।

साय ने कहा कि इससे पहले नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने ट्वीट कर सरकार को सलाह दी थी। कौशिक ने कहा था, प्रदेश में कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है। सरकार को सरकारी और निजी शैक्षणिक संस्थानों में आनलाइन पढ़ाई को प्रोत्साहित करने की दिशा में तत्काल फैसला लेना चाहिए। इसके साथ ही छात्र हित में प्रदेश के सभी संस्थानों को बंद करना अभी बेहतर होगा।