Coronavirus in Bilaspur : सरकार को अब सताने लगी चिंता, कहीं मानसिक रोगी न बन जाए लोग

0
144

बिलासपुर। Coronavirus in Bilaspur कोरोना के बढ़ते खौफ के बीच सरकार को अब उन लोगों की चिंता सताने लगी है जो मानसिक रूप से कमजोर हैं या फिर संक्रमण के बढ़ते दौर में अपना आपा खो सकते हैं। लॉकडाउन के बीच घरों में कैद रहने और संक्रमण के बढ़ते प्रभाव का भय, दोनों ही लोगों को सताने लगा है। इससे लोगों में तनाव भी बढ़ने लगा है। इसे देखते हुए केंद्र सरकार ने देशव्यापी टोल फ्री नंबर जारी किया है। इस नंबर पर फोन कर अपनी परेशानी बताने कहा जा रहा है।

राज्य का इकलौता मानसिक चिकित्सालय दे रहा परामर्श

सेंदरी में राज्य का एकमात्र मानसिक चिकित्सालय है। यहां के चिकित्सक प्रतिदिन लोगों को परामर्श दे रहे हैं। कोरोना से जुड़ी ज्यादा खबरें न देखें न सुनें, आपको जितनी जानकारी चाहिए आप पहले से ही जान चुके हैं। कहीं से भी अधिक जानकारी एकत्र करने का प्रयास छोड़ें क्योंकि ये आपकी मानसिक स्थिति को और ज्यादा कमजोर ही करेगा।

होम आइसोलेट की गुपचुप तरीके से होगी जासूसी

बिलासपुर शहर अंतर्गत मौजूदा स्थिति में 796 लोग 28 दिनों के लिए होम आइसोलेट है। लेकिन स्वास्थ्य व पुलिस विभाग को लगातार शिकायत मिल रही है कि आइसोलेट होने के बाद भी संदेही घर से निकल रहे है। जिससे क्षेत्र में दहशत फैल जाता है, यदि इनमें से एक भी कोरोना पीड़ित निकला तो वह कई को अपने चपेट में ले सकता है।

वही अब विभाग ने रोज की निगरानी के साथ स्वास्थ्य अमला की एक ऐसी टीम तैयार की है जो इन संदेहियांे की जासूसी करेंगे और जैसे ही कोई भी संदेही घर से बाहर निकलते हुए दिखा या फिर घर से बाहर रहा तो तत्काल उसे पकड़ा जाएगा। जिसकी जानकारी पुलिस व जिला प्रशासन को दी जाएगी।