Ayodhya Case Verdict 2019 : CM योगी आदित्यनाथ ने संभाल रखा था मोर्चा, यूपी में नहीं बिगड़ा माहौल

0
103

लखनऊ । अयोध्या में रामलला पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से करीब एक हफ्ते पहले से उत्तर प्रदेश सरकार की सघन तैयारी शनिवार को बेहद सफल रही। सफल रहती भी क्यों न, जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कानून-व्यवस्था संभालने के अहम मोर्चा पर खुद डटे थे।

नई दिल्ली में फैसला आने से करीब आधा घंटा पहले ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद ही यूपी 112 के कंट्रोल रुम पहुंच गए। उनके वहां पर पहुंचने से डीजीपी ओपी सिंह तथा एडीजी भी हैरान रह गए। फैसला आने की संभावना के बीच सीएम योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार देर शाम से शनिवार देर शाम तक खुद मोर्चा संभाल रखा था। उनकी शुक्रवार से लेकर शनिवार देर शाम तक डीजीपी ओ पी सिंह से लगातार वार्ता होती रही। शुक्रवार रात करीब आठ बजे सीएम योगी आदित्यनाथ ने नई दिल्ली देश के मुख्य न्यायाधीश को तैयारियों की जानकारी देने गए डीजीपी से पूछा कि आप कितनी देर में लखनऊ पहुंच रहे हैं। एक बार फिर से तैयारियों की समीक्षा करनी है। इसके बाद फैसला आने की पुख्ता जानकारी मिलते ही देर रात तक समीक्षा का दौर चला। योगी आदित्यनाथ तड़के उठ जाते हैं, लेकिन शनिवार को वह निर्धारित समय से पहले उठे और फिर पूजा संपन्न कर कानून व्यवस्था की समीक्षा में लग गए। शनिवार सुबह एक बार फिर से योगी आदित्यनाथ ने डीजीपी ओपी सिंह से फोन पर बात की और पूरे राज्य की हालात का जायजा लिया।

नई दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट के निर्धारित समय 10:30 बजे फैसला सुनाने से करीब आधा घंटा पहले सीएम योगी आदित्यनाथ खुद यूपी 112 के कंट्रोल रुम पहुंचे। यहां खुद ही हर डीएम, एसएसपी और एसपी को हिदायत दी। सीएम योगी आदित्यनाथ सभी से साफ लहजे में कह दिया कि सुरक्षा प्रबंधों में किसी भी तरह की चूक नहीं होनी चाहिए। संवेदनशील जिलों के डीएम, एसएसपी और एसपी से खुद सुरक्षा के सवाल करने लगे। वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए भी हर जिले के पुलिस कप्तानों को पुलिस गश्त के बारे में पूछ रहे थे। किसी अधिकारी की बात से संतुष्ट नहीं होने पर खुद हिदायत दी और पुलिस गश्त और तेज करने का निर्देश दिया। उन्होंने डीएम, कमिश्नर, आईजी सहित आलाधिकारी को लगातार क्षेत्र में मुस्तैद रहने का निर्देश दिया। इस बड़े फैसले में उनको जरा सी भी चूक बर्दाश्त नहीं थी।

योगी आदित्यनाथ फैसला आने के करीब एक घंटा बाद यूपी 112 मुख्यालय से निकल कर सरकारी आवास लौटे। इस दौरान राज्य के अपर मुख्य सचिव गृह, डीजीपी और कई आलाधिकारी उनके साथ ही मौजूद रहे।

गुलजार रहा अयोध्या

सीएम योगी आदित्यनाथ के बेहद सतर्क रहने के बाद शनिवार को सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद रामनगरी अयोध्या में सभी बाजार और व्यावसायिक प्रतिष्ठान खुले रहे। जिले में मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्रों में माहौल सामान्य था और आज भी है। अयोध्या में कानून-व्यवस्था और सुरक्षा के प्रभारी अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजी) आशुतोष पाण्डेय ने बताया यहां सब सामान्य है। राम लला मंदिर (विवादित भूमि पर अस्थाई मंदिर) में दर्शन शांतिपूर्वक जारी है। यहां कानून-व्यवस्था कायम रखने के लिए अर्धसैनिक बल के अलावा 1,200 कांस्टेबल, 250 उप निरीक्षक और 125 निरीक्षक भी तैनात हैं।