ATM Fraud : छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में पकड़ाया एटीएम कार्ड क्लोन करने वाला गिरोह

0
120

बिलासपुर। ATM Fraud छत्तीसगढ़ के बिलासपुर पुलिस ने एटीएम क्लोन कर ग्राहकों को लाखों रुपए का चूना लगाने वाले अंतरराज्यीय ठग गिरोह को पुलिस ने पकड़ा है। ठग दो एटीएम वाले बूथ में मशीन का हुड खोलकर एटीएम कार्ड रीडर लगा देते थे। इससे एटीएम में कार्ड डालने पर रकम नहीं निकलती थी। लेकिन, एटीएम कार्ड रीडर के जरिये ठग क्लोनिंग कर लेते थे। सात दिसंबर को तोरवा थाना क्षेत्र के हेमूनगर निवासी रेलवे के रिटायर्ड अफसर देवलाल पासवान के एटीएम कार्ड के जरिये खाते से रकम निकाल ली गई थी। उन्होंने सिविल लाइन पुलिस को बताया कि सत्यम चौक स्थित एटीएम बूथ में अपने कार्ड से बैलेंस चेक किया था। इस मामले की जांच व पूछताछ में पता चला कि इससे पहले वे दयालबंद स्थित स्टेट बैंक के एटीएम बूथ में रकम निकालने गए थे।

एटीएम से रकम नहीं निकल रही थी। इसी बीच वहां खड़े दो युवकों ने मदद करने का झांसा दिया। फिर उनका एटीएम कार्ड लेकर बाजू वाली दूसरी मशीन से रकम निकालने की सलाह दी। दूसरी एटीएम से उन्होंने पांच हजार रुपए निकाले। पुलिस ने एटीएम से सीसीटीवी फुटेज निकालकर तस्दीक की। तब ठग गिरोह के शहर आने की भनक लगी। पुलिस को ठग गिरोह के शहर के एक होटल में ठहरने की भनक लगी। लेकिन, टीम वहां पहुंची तब तक आरोपित यहां से निकल गए थे। टीम को यह भी पता चल गया था कि गिरोह कस सदस्य ब्रेजा कार में घूम रहे हैं। लिहाजा, आरोपितों की पहचान करना मुश्किल नहीं था। पुलिस ने रायपुर में घेराबंदी कर उन्हें पकड़ लिया। इस गिरोह में पांच सदस्य थे। उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ की। फिर उनकी कार की तलाशी ली गई। आरोपितों से मिले लैपटॉप, क्लोनिंग उपकरण, स्कीमर डिवाइस, लो व हाई-क्वालिटी के क्लोंड एटीएम कार्ड, एटीएम कार्ड रीडर, एमएसआर डिवाइस, मिनी स्कीमर डिवाइस उनकी करतूतों को बयां कर रही थी। पुलिस इन सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर पूछताछ कर रही है।

इनकी हुई गिरफ्तारी

ओंकार सिंह पुत्र रामाशीष सिंह निवासी आस्था स्पेस टाउन गिमना रोड मांगो, जमशेदपुर झारखंड, श्रीशंत कुमार सिंह पुत्र रामाशीष सिंह ग्राम नगांव, फतेहपुर, गया बिहार, राकेश रंजन सिंह पुत्र रामाशीष सिंह सी-15, गौर सिटी नोएडा, राजीव रंजन पुत्र गोपाल कश्यप निवासी बिरवाल कॉलोनी, बेकारबं, नबाद, झारखंड, सूरज कुमार सिंह निवासी रामगढ़, जमूरिया, गुरकुंडा झारखंड।