पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी और उनके बेटे अमित पर नौकर को आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज

0
124

बिलासपुर. छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी और उनके बेटे अमित जोगी के खिलाफ बिलासपुर पुलिस ने गुरुवार देर रात नौकर को आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज किया है। पूर्व मुख्यमंत्री जोगी के बंगले मरवाही सदन में नियुक्त केयरटेकर संतोष कौशिक उर्फ मनवा ने 15 जनवरी को फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली थी। भाई कृष्ण कुमार और परिजनों ने जोगी परिवार पर आरोप लगाया है कि संतोष कौशिक को चोरी के नाम पर डराया धमकाया जा रहा था। इस बात की सूचना संतोष ने अपनी पत्नी को भी दी थी।

पत्नी बोली- मरने से पहले फोन कर प्रताड़ित किए जाने की कही थी बात
दरअसल, कोनी थाना क्षेत्र के ग्राम रमतला का रहने वाला संतोष मरवाही सदन में ही रहकर काम करता था। संतोष ने बुधवार शाम करीब 4 बजे पत्नी कविता को फोन किया। वह रो रहा था। पति को परेशान देख कविता ने अपने भाई सरोज कश्यप को जोगी बंगले पर भेजा। हालांकि सरोज को गार्ड ने अंदर जाने से रोक दिया था। इसके बाद शाम करीब 5.30 बजे सरोज को सिविल लाइन थाना पुलिस से संतोष के आत्महत्या करने की सूचना मिली थी। सूचना मिलने के बाद परिजन बंगले में पहुंचे तो पुलिस ने शव को नीचे उतारवाया।

संतोष कौशिक के ऊपर बंगले से चांदी का जग चोरी किए जाने का आरोप था। इस मामले में पुलिस जांच भी कर रही थी। वहीं परिजनों का कहना है कि चोरी के आरोप के चलते वह काफी परेशान था और उसने प्रताड़ित किए जाने की भी बात कही थी। मरने से पहले जब उसने फोन किया तो भी इसी बात के लिए रो रहा था। एएसपी ओपी शर्मा ने बताया कि परिजनों के शिकायत के बाद गुरुवार देर रात धारा 306 व 34 के तहत अपराध दर्ज किया गया है। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।