मध्य प्रदेश: ‘सामूहिक आत्महत्या’ से सहमा पूरा इलाका, 4 साल का मासूम भी फांसी पर लटक रहा था

0
70

टीकमगढ़: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के टीकमगढ़ जिले (Tikamgarh District) के खड़गपुर में रविवार को एक ही परिवार के पांच सदस्यों ने फांसी लगाकर जान दे दी. दिल दहलाने वाली इस घटना के बारे में टीकमगढ़ के एसपी प्रशांत खरे (SP Prashant Khare) ने बताया, ‘एफएसएल टीम को बुलाया गया, जांच चल रही है. हम अभी तक मौत के कारण का पता नहीं लगा सके हैं. शवों का पोस्टमॉर्टम किया जाएगा.’
पुलिस ने कहा कि मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ जिले में एक 62 वर्षीय व्यक्ति और एक 4 वर्षीय बच्चे सहित परिवार के पांच सदस्यों ने फांसी लगाकर जान दे दी. टीकमगढ़ राजधानी भोपाल से 343 किलोमीटर दूर है. मृतकों की पहचान टीकमगढ़ जिले के खरगापुर कस्बे के निवासी धर्मदास सोनी (62), उनकी पत्नी पूनी सोनी (55), उनके बेटे मनोहर सोनी (27), उनकी पुत्रवधू सोनम सोनी (25) और पोते सानिध्य (4) के रूप में हुई.
टीकमगढ़ के पुलिस अधीक्षक प्रशांत खरे ने कहा, एक दूधवाले ने सुबह पड़ोसियों को जानकारी दी कि धर्मदास के परिवार के सदस्य, जो एक सेवानिवृत्त सरकारी कर्मचारी थे, घर का दरवाजा नहीं खोल रहे थे. पड़ोसियों ने पुलिस को सूचित किया. पुलिस ने घर में घुसने के लिए दरवाजा तोड़ दिया और मनोहर को एक कमरे में छत से लटका पाया. बाद में पुलिस टीम ने सोनम और उसके बेटे संध्या के साथ धर्मदास और उसकी पत्नी पून सोनी को दूसरे कमरे में मृत पाया.
SP ने कहा, घर से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है. शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है. कुछ लोगों ने दावा किया कि परिवार का कुछ रिश्तेदारों के साथ संपत्ति का विवाद था. पुलिस इस एंगल से भी मामले की जांच कर रही है.
बताते चलें कि ये पहला कांड नहीं है जिसमें एक साथ एक परिवार के सदस्यों ने सामूहिक आत्महत्या की हो. इससे ठीक 2 साल पहले 1 जुलाई 2018 को दिल्ली में सामूहिक हत्याकांड का मामला सामने आया था, जिसमें 1 जुलाई की सुबह चुड़ावत परिवार के 11 सदस्य घर में मृत पाए गए थे, जिसमें परिवार के बच्चे भी शामिल थे. जांच के दौरान पुलिस ने कई चौंकाने वाले खुलासे किए. हालांकि मरने की असल वजह का पता नहीं चल पाया