फिर आदिवासियों पर सियासत!

0
65

नगरीय निकाय चुनाव के बीच कांग्रेस को सताई चिंता
गुना और देवास की घटना को लेकर उठाए सवाल
बीजेपी ने भी किया पलटवार

विशेष संवाददाता, भोपाल
नगरीय निकाय चुनाव के शोर के बीच मध्यप्रदेश में गुना और देवास जिले में शर्मनाक घटना को लेकर राज्य में राजनीति शुरू हो गई है। मामले को लेकर जहां पूर्व सीएम एवं पीसीसी चीफ कमलनाथ ने ट्वीट कर सरकार से सवाल पूछे सवाल हैं। इधर कांग्रेस के आरोपों पर भाजपा ने भी पलटवार किया है।
कमलनाथ ने ट्टि्ववीट कर सरकार से पूछा है कि प्रदेश में आदिवासियों पर क्यों बढ़ रहा अत्याचार? कई घटनाओं में बीजेपी से जुड़े लोगों ने वारदात को अंजाम दिया है। देवास के बागली के उदयनगर में एक आदिवासी महिला के कंधे पर उसके पति को बिठाकर पिटाई करते हुए उसका जुलूस निकाला गया। शिवराज जी मैं आपसे पूछना चाहता हूं कि प्रदेश में आदिवासी महिलाओं पर इस कदर के बर्बर जुल्म क्यों हो रहे हैं? आखिर क्या वजह है कि आप घोषणाएं करते जाते हैं और आदिवासी महिलाओं पर अत्याचार बढ़ते जाते हैं?
यह पहला मामला नहीं है। कभी नेमावर में आदिवासी परिवार को जमीन में जिंदा गाड़ दिया जाता है, कभी नीमच में एक आदिवासी को जीप से बांधकर घसीटकर कर मार डाला जाता है। बहुत से मामलों में इस तरह के जुल्म करने में भाजपा कार्यकर्ताओं का हाथ भी सामने आ चुका है।शिवराज जी, क्या अब मध्यप्रदेश की जनता यह मान ले कि प्रदेश में आपकी सरकार के संरक्षण में ही आदिवासियों पर इतने जुल्म हो रहे हैं?आप आदिवासियों के नाम पर नौटंकी करते रहते हैं और आदिवासियों की हालत दिन पर दिन खराब होती जाती है। शिवराज जी मैं अपने आदिवासी भाई बहनों की स्थिति पर शर्मसार हूं, क्या आपको भी शर्म आती है?
देवास के बागली के उदयनगर में एक आदिवासी महिला के कंधे पर उसके पति को बिठाकर पिटाई करते हुए उसका जुलूस निकाला गया। शिवराज जी मैं आपसे पूछना चाहता हूं कि प्रदेश में आदिवासी महिलाओं पर इस कदर के बर्बर जुल्म क्यों हो रहे हैं?
गुना में आदिवासी महिला को जलाने के मामले पर युवक कांग्रेस के अध्यक्ष विक्रांत भूरिया ने सत्ताधारी पार्टी बीजेपी पर हमला बोला है। कहा कि आदिवासी महिला को जिंदा जला दिया गया। कांग्रेस ने आदिवासी महिला को दिग्विजय सरकार में ये पट्टा दिया था। बीजेपी और आरएसएस के लोग यहां शोषण करने में लगे हुए है। ये बुलडोजर कहां जाता है जब शोषित वर्ग की बात आती है। हम मांग करते है गुना घटना के दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करें चाहे कोई भी समाज हो। पीड़ित महिला का इलाज निःशुल्क होना चाहिए। कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था पूरी तरह चौपट है, गृहमंत्री इस्तीफा दें।
इधर कांग्रेस के आरोपों पर भाजपा ने पलटवार किया है। कहा कि कांग्रेस हर मुद्दे पर राजनीति करती है ये बहुत ही संवेदनशील मामला है। जब तक इसकी जांच की पूरी रिपोर्ट नहीं आए हमें निश्चित रूप से टिप्पणी करने से बचना चाहिए। जाहिर है पंचायत और नगरीय निकाय चुनाव में कई जगहों पर कांग्रेस इसका फायदा उठाना चाहती है। ऐसे में सवाल यही की क्या कांग्रेस अपनी रणनीति में सफल हो पाएगी या बीजेपी इसकी कोई काट निकाल लेगी।