स्मार्ट बनेगा भोपाल, होगा चौतरफा विकास

0
72

शहर के बाजार होंगे अत्याधुनिक और सुव्यवस्थित छोटे तालाब से खटलापुर तक बनेगा स्टील केबल स्टे ब्रिज

राजधानी भोपाल के नगर निगम के लिए सोमवार को बीजेपी ने संकल्प पत्र
जारी किया। इसमें कई घोषणाएं की गई है। जिसमें प्रमुख रूप से भोपाल में राजा भोज संग्रहालय की स्थापना की जाएगी। रानी कमलापति महल का पुरातत्व विभाग के सहयोग से कायाकल्प किया जाएगा और प्रतिवर्ष रानी पति महोत्सव मनाया जाएगा। भोपाल गौ- विश्राम घाट तथा गौशालाओं का निर्माण किया जाएगा। वहीं छोटे तालाब से खटलापुर तक स्टील केबल स्टे ब्रिज का निर्माण कराया जाएगा। निजी कालोनियों में बल्क नल कनेक्शन के स्थान पर व्यक्तिगत नल कनेक्शन (हाई राइज बिल्डिंग छोड़कर) प्रदान किया जायेगा। शहर में लीकेज के कारण पानी की बर्बादी न हो, इस दृष्टि से स्काडा के जरिए लीकेज रोके जाएंगे। सात कवर्ड मीट मार्केट का निर्माण किया जाएगा। पुरानी नवबहार सब्जी मण्डी की भूमि पर फल, फूलएवं सब्जी की आधुनिक अण्डी का निर्माण कराया जाएगा। भोपाल को वाटर प्लस शहर बनाने के लिए सुनियोजित रूप से कार्य किया जाएगा। कोकता ट्रान्सपोर्ट नगर एवं बाग सेवनियाँ में अत्याधुनिक बस डिपो का निर्माण किया जाएगा। लोक परिवहन को सुदृण करने के लिए सीएनजी बसों के संख्या बढ़ाई जाएगी। भोपाल नगरीय क्षेत्र के समस्त नागरिकों को राज्य सरकार की विभिन्न हितग्राही मूलक योजनाओं का लाभ दिलाया जाएगा। भारत माता मंदिर परिसर का निर्माण समय सीमा में पूर्ण किया जाएगा। नगर में आवश्यकतानुसार हॉकर्स कार्नर, चौपाटी विकसित की जाएगी। भोपाल के दशहरा मैदानों का यथोचित विकास एवं उन्नयन किया जाएगा। शहर के प्रमुख बाजारों को अत्याधुनिक और सुव्यवस्थित बनाया जाएगा। भोपाल के चिन्हित वार्ड्स को जीरो बेस्ट वार्ड बनाने का काम किया जाएगा। इसे चरणबद्ध रूप से शेष वार्डो में भी लागू किया जाएगा। पर्यावरण की दृष्टि से शहर में हरियाली बढ़ाने के लिए ट्री सर्वे कराकर सुनियोजित रूप से पौधारोपण किया जाएगा। विद्युत खर्च को कम करने के लिए भोपाल की नगर निगम की सभी इमारतों पर सोलर प्लांट लगाए जाएंगे। भवन स्वामी यदि अपनी छतों पर यदि सोलर सिस्टम लगाते है तो ऐसे भवन स्वामियों को संपत्ति कर में रियायत दी जाएगी। भोपाल को स्वच्छता में देश का नम्बर 1 शहर बनाने एवं स्वच्छतम राजधानी का खिताब बरकरार रखने के लिए मिशन मोड में कार्य किया जाएगा। आवश्यकतानुसार शहर के विभिन्न पार्को में निर्माण किया जाएगा।