सहायक आरक्षक नक्सली बनकर करता था लूट

0
120

कांकेर। कांकेर में फर्जी नक्सली बनकर ग्रामीणों से लूटपाट करने वाले आरोपी को गांव वालों ने पुलिस के हवाले कर दिया है। पकड़ा गया फर्जी नक्सली गोपनीय सैनिक है। वह कोंडागांव पुलिस में सहायक आरक्षक के पद पर तैनात है। बताया जा रहा है कि वह दिन में पुलिस की ड्यूटी करता है और रात को नक्सली बनकर ग्रामीणों से लूटपाट करता है। आमाबेड़ा क्षेत्र के तुमसनार, उसेली सहित कई गांवों में लूटपाट की घटना अंजाम दे चुका है। वहीं लूटपाट की घटना में शामिल दो सहायक आरक्षक फरार बताए जा रहे हैं। फरार आरोपियों की तलाश में पुलिस जुट गई है। मामला नक्सल प्रभावित आमाबेड़ा थाना क्षेत्र का है। दरअसल आमाबेड़ा थाना क्षेत्र के राजपुर गांव के सरपंच के घर से करीब डेढ़ लाख रुपए की वसूली के इरादे से आधी रात को दो लोग पहुंचे थे। खुद को नक्सली बताते हुए सरपंच पर दबाव डालने लगे और तेंदूपत्ता के लेवी के नाम पर पैसों की मांग करने लगे।