रस्सी जल गई बल नहीं गया

0
58

कमलनाथ जी जब मुख्यमंत्री थे तब भी अधिकारी-कर्मचारी को धमकाते और अपमान करते थे- चौहान

नगर संवाददाता, भोपाल
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ पर जोरदार पलटवार किया है। सिंह ने कहा है कि, कमलनाथ समझ गए हैं कि कांग्रेस पूरी तरह हार रही हैं, अब हार का ठीकरा किसी ना किसी के सर पर फोड़ना है। दरअसल कमलनाथ ने कटनी में बुधवार को बयान दिया था। जिसमें उन्होंने कहा था कि, आज के बाद कल और कल के बाद परसो आता है।
इसके जबाव में सिंह ने कहा कि, पुलिस प्रशासन के सिर पर हार का ठीकरा फोड़ा जा रहा है। कमलनाथ जी, यह क्यों नहीं समझते जब आप मुख्यमंत्री थे, आप की सरकार थी, आपने कई गरीबों के मकान वापस लौटा दिए, कई गरीबों को मकान से वंचित कर दिया, आपने संबल योजना बंद कर दी और जो हमारी माताएं-बहने थी, बेटा-बेटी को जन्म देती थी; हम उनको ₹16 हजार देते थे। वह ₹16 हजार आपने छीन लिए थे।
कन्यादान योजना कर दी थी बंद
कन्यादान योजना अपने बंद कर दी थी, गरीब बच्चों की फीस भरवाना आपने बंद कर दिया था, दुर्घटना पर जो 4 लाख पैसे देते थे, वह छीन लिया। सामान्य मृत्यु पर 2 लाख देते थे, वह छीन लिया। अंतिम संस्कार के कफन के भी ₹5 हजार कमलनाथ जी, आपने और कांग्रेस ने छीन लिए।
अब जब जनता नाराज हो गयी आपको हरा रही है तो आप अधिकारियों और कर्मचारियों को अपमानित कर रहे हैं। पुलिस प्रशासन पर अपनी भड़ास निकाल रहे हैं। हार का ठीकरा उनके ऊपर फोड़ रहे हैं। हमारा प्रशासन निष्पक्ष है और निष्पक्षता के साथ काम कर रहा है। कर्मचारी-अधिकारी, पुलिस प्रशासन का भी अपमान, आपको महंगा पड़ेगा कमलनाथ जी!
—————————