मप्र में प्रशासन भाजपा के एजेंट की तरह काम कर रहा है

0
87

पंचायत चुनाव में कांग्रेस को भारी जीत मिली है : अजय सिंह यादव

भोपाल। मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी मुख्यालय में  विधायक श्री कुणाल चौधरी जी एवं मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष श्री अजय सिंह यादव ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा की जिला पंचायत टीकमगढ़ के वार्ड क्रमांक 17 से श्रीमती बती देवी अयोध्या प्रसाद यादव निर्वाचित हो चुकी हैं, निर्वाचन का प्रमाण पत्र भी मिल चुका है, परन्तु भाजपा नेताओं के दबाव में प्रशासन जीते हुए उम्मीदवार को हराने के लिए काम कर रहा है। निर्वाचन आयोग के स्पष्ट निर्देश है कि अब कोई भी पुनः मतगणना या किसी तरह का परिवर्तन बिना याचिका /न्यायालय के आदेश के नहीं होगा। उसके बाद भी कलेक्टर टीकमगढ़ द्वारा 16/07/22 को अनैतिक तरीके से सुनवाई रखी गई एवं निर्वाचन में परिवर्तन करने जा रहे हैं। जबकि निर्वाचन की अधिसूचना में वार्ड नंबर 17 में श्रीमती बती बाई का निर्वाचन होना अधिसूचित किया गया है, वार्ड क्रमांक 17 के निर्वाचन की विवरणी में भी स्पष्ट तौर पर श्रीमति बती बाई को जीता हुआ दिखाया गया है । इस मामले में तत्काल निर्वाचन आयोग संज्ञान ले एवं किसी भी तरह के अनैतिक काम को होने से रोके।
उमरिया जिले के नगर परिषद मानपुर में 13 जुलाई 2022 को रात्रि 01.00 मंत्री मीना सिंह अपने स्वयं के इनोवा वाहन क्र MP04 CR 1015 से पैसा बांट रही थीं और स्पष्ट तौर पर मतदाताओं को राशन कार्ड में नाम जुड़वाने का लालच दे रही थीं, जिसके वीडियो भी वायरल हुए हैं, जब स्थानीय लोगों ने पैसे बांटते हुए उन्हें पकड़ा गया तो पुलिस द्वारा पंचनामा बनाया गया, जिसमें भी स्पष्ट तौर पर मंत्री जी के वाहन में नगद राशि जप्त की गई। पंचनामा की प्रति में सभी तथ्य उपलब्ध है, लेकिन कलेक्टर उमरिया द्वारा जब प्रतिवेदन दिया गया तो वाहन राजनीतिक दबाव में छोड़ दिया गया और कह दिया गया कि मंत्री जी वाहन में नहीं थी, बड़े पैमाने पर धनराशि की जब्ती के बाद भी कलेक्टर द्वारा आचार संहिता उल्लंघन का कोई मामला दर्ज नहीं किया गया। प्रशासन आरोपी मंत्री को तो बचा ही रहा है साथ ही अब कांग्रेस कार्यकर्ताओं को प्रताड़ित किया जा रहा है। इस मामले में शिकायत करने वाले कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को 13 जुलाई को मतदान समाप्त होते ही गिरफ्तार कर लिया गया, जबरदस्ती थाने में बिठाया गया और प्रताड़ित किया जा रहा है। इस मामले में कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा निर्वाचन आयोग में भी शिकायत की गई।  जिस तरह का रवैया उमरिया प्रशासन ने दिखाया, मतगणना में भी गड़बड़ी होने की आशंका है । उस दिशा में भी कार्यवाही की जाए, परन्तु अभी तक निर्वाचन आयोग द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की गई।
कांग्रेस पार्टी की मांग है कि निर्वाचन आयोग आदर्श आचार संहिता उल्लंघन के मामले में मंत्री मीना सिंह पर कार्यवाही करें एवं कांग्रेस कार्यकर्ताओं को जो प्रताड़ना दी जा रही है, उस पर संज्ञान लेते हुए निष्पक्ष मतगणना की व्यवस्था करें।
श्री चौधरी ने कहा कि मध्यप्रदेश में पंचायत चुनाव परिणाम के मामले में भाजपा के अध्यक्ष श्री बीडी शर्मा ने झूठे आंकड़े पेश किए हैं जबकि प्रदेश की 875 सीटों में से 386 जिला पंचायत सदस्य कांग्रेस समर्थित जीते हैं। भाजपा समर्थित केवल 360 जीते हैं, साथ ही प्रदेश की 125 से अधिक जनपद पंचायतों में कांग्रेस के अध्यक्ष बनने जा रहे हैं। लोकतंत्र की हत्या करने पर उतारू भाजपा द्वारा पंचायत एवं नगरीय निकाय चुनावों में भाजपा के मंत्रियों द्वारा पैसे बांटे गए, जमकर पुलिस, प्रशासन का दुरुपयोग किया गया। इंदौर, रतलाम, टीकमगढ़, उमरिया सहित अन्य जगहों पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर फर्जी मुकदमे लगाए गए। आचार संहिता का खुला उल्लंघन किया गया। उसके बाद भी प्रदेश में जनता का आशीर्वाद पंचायत चुनाव में कांग्रेस को मिला है। अब हार की बौखलाहट में भाजपा अध्यक्ष बीडी शर्मा जी झूठे आरोप लगा रहे हैं। जबकि प्रदेश की कानून व्यवस्था ध्वस्त है, दलितों पर अत्याचारों में देश के औसत से दुगने अत्याचार हो रहे है, कमिश्नर प्रणाली में भी अपराध बढ़ते जा रहे हैं, जब मुख्यमंत्री एवं गृह मंत्री से प्रदेश और प्रदेश की कानून व्यवस्था संभल नहीं रही है तो दोनों को अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।

श्री चौधरी ने कहा कि जिस प्रकार ग्रामीण जनता ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ जी पर विश्वास जताया , इसी प्रकार नगरीय निकाय चुनावों में भी कांग्रेस का परचम लहराएगा।

इस अवसर पर प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता जीतेन्द्र मिश्रा, सुश्री अपराजिता पांडे, आनद जाट भी उपस्थित रहे।