फेसबुक पर दोस्ती की रिक्वेस्ट महंगी पड़ी

0
52

छतरपुर:-देश में महिला सम्मान को लेकर सभी सरकारें एक से बडकर एक सराहनीय कार्य कर रही है और उनके द्वारा महिलाओं की सुरक्षा को लेकर एवं दोषियों को सलाखों के पीछे पहुंचाने के लिए कठोर कानून बनाए गए है। मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले के शिक्षा विभाग में पदस्थ रहे लिपिक जीतेंद्र कुमार गौर, सहायक ग्रेड 2 जहां भ्रष्टाचार, अनियमित्ताओं,एव पूर्व जिला शिक्षा अधिकारी संतोष शर्मा के साथ मिल कर बिना आबेद्न किये शिक्षको के स्थानांतरण एवं फर्जी कार्य करने के आरोपों में हालिया निलंबित चल रहे है, वहीं अब वह अपरिचित महिलाओं को फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजकर उनको परेशान करने का गंदा काम करने में लग गए है जिससे उनकी दूषित मानसिकता सामने आने लगी है। शिक्षा विभाग में ही पदस्थ एक महिला ने जीतेंद्र कुमार गौर के द्वारा उनको दो बार अनाधिकृत रूप से फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजने, उनकी निजी जानकारी निकालकर उसका दुरुपयोग करने, मानसिक परेशान करने जैसी गंभीर शिकायत वरिष्ठ अधिकारियों एवं महिला आयोग भोपाल में की है जिसके आधार पर जेडी सागर मनीष वर्मा जी ने तीन सदस्यी जांच समिति गठित कर 07 दिवस में जांच रिपोर्ट सौंपने के निर्देश जारी कर दिए है। जांच में दोषी पाए जाने पर जीतेंद्र कुमार गौर की मुश्किलें बड़ सकती है और उनको मध्यप्रदेश सिविल सेवा आचरण नियम 1965 के तहत शासकीय सेवा से बर्खास्त भी किया जा सकता है। जांच समिति में डाइट प्राचार्य श्रीमती कविता सिंह के होने से पीड़ित महिला को न्याय मिलने की पूर्ण उम्मीद है। ऐसे शासकीय सेवक जो महिलाओं का सम्मान करने के बजाय उन्हें परेशान करने के इरादे से ऊल जुलूल हरकते करते है, वह शासन के मुलाजिम बने रहने का कोई हक नही रखते है।