पानी से पानी-पानी हुआ शहर

0
74
भोपाल का सबसे मुख्य और व्यस्त वीआईपी रोड भी कई जगह पानी में डूबा रहा।      फोटो-  शान बहादुर। - Dainik Bhaskar
भोपाल। मध्यप्रदेश में मानसून अब सक्रिय हो गया है। राजधानी भोपाल में सोमवार रात गरज और चमक के साथ तेज बारिश शुरू हुई, जो सुबह तक होती रही। रात 12:30 तक 4 इंच बारिश हो चुकी थी। इसके बाद बारिश रुक-रुककर सुबह तक होती रही। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक ओडिशा में बने सीजन के पहले लो प्रेशर एरिया और मप्र के ऊपर से गुजर रही मानसून ट्रफ लाइन के असर के कारण ऐसी तेज बारिश हुई। प्रदेश में कहीं तेज बारिश, कहीं रिमझिम तो कहीं बूंदाबांदी का दौर जारी रहा। इससे पूरा भोपाल शहर तरबतर हो गया। कई सड़कों और जगहों पर पानी भर गया।
सीजन में पहली बार ऐसा हुआ, जब पूरे प्रदेश में एक साथ मानसूनी पानी बरसा। मौसम वैज्ञानिक वेद प्रकाश सिंह के मुताबिक जब लो प्रेशर एरिया बंगाल की खाड़ी के नजदीक बनता तो इसका असर हमारे यहां ज्यादा होता और बारिश भी अधिक होती। सिंह ने बताया कि अभी अगले 3 दिन और ऐसी ही बारिश होने की संभावना है। आधे से ज्यादा प्रदेश में तेज बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।
इन इलाकों में दो-दो फीट तक पानी भरा
भोपाल के लालघाटी, गुफा मंदिर रोड स्थित कॉलोनियां, मिसरोद थाना, भोपाल टॉकीज, सेफिया कॉलेज रोड, बैरागढ़ की कॉलोनियां, अयोध्या नगर की कॉलोनियां, सिंधी कॉलोनी, इब्राहिमगंज, शांति नगर, सेमरा, कटारा हिल्स, शाहपुरा, संजय नगर, कोहेफिजा कॉलोनी, बीडीए कॉलोनी सलैया।
यहां की सड़कें पानी में डूबीं
भोपाल के वीआईपी रोड, सिंधी कॉलोनी रोड, लिंक रोड नंबर 1, बाणगंगा चौराहा, बागमुगालिया रोड, ऑरा मॉल के सामने, बैरागढ़ से लालघाटी रोड, कोहेफिजा, हमीदिया रोड।
भोपाल में सबसे ज्यादा 4 इंच बारिश
सोमवार को एमपी के कई जिलों में बारिश हुई। सबसे ज्यादा बारिश भोपाल जिले में रात 12:30 तक 4 इंच बारिश हो चुकी थी।। इसके अलावा जबलपुर में 17 मिमी, गुना और पचमढ़ी में 15-15 मिमी, मंडला में 8 मिमी बारिश दर्ज की गई। ये आंकड़े सोमवार सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक की बारिश के है।
बारिश कराने वाले 3 सिस्टम एक्टिव
प्रदेश में मूसलाधार बारिश कराने वाले तीन सिस्टम एक्टिव हैं। ओडिशा में कम दबाव का क्षेत्र बना है। दक्षिणी झारखंड में भी हवा के ऊपरी भाग में चक्रवात है। अरब सागर से भी नमी मिल रही है। इन तीनों वजह से अगले चार से पांच दिन तक भोपाल, इंदौर समेत दूसरे शहरों में भी बारिश होती रहेगी।
बिजली गिरने से मौत
भिंड के दबोह में रविवार को बिजली गिरने से चमेली कुशवाहा (40) की मौत हो गई। टीकमगढ़ और दमोह में भी गाज गिरने से एक-एक मौत हुई है। सागर में घरों में 3-3 फीट तक पानी भर गया। कच्चे मकानों की दीवारें गिर गईं। बुरहानपुर के निंबोला में रविवार को 1 घंटे की बारिश में उतावली नदी में बाढ़ आने से निंबोला-खामला रोड की पुलिया डूब गई। पुलिया के दोनों तरफ 2 घंटे तक 100 से ज्यादा लोग फंसे रहे। पानी उतरने के बाद लोग यहां से निकल सके। इस रोड पर उतावली नदी की पुलिया सिर्फ चार फीट ऊंची है। ग्रामीणों ने बताया यह जंगल क्षेत्र है। रात में यहां फंसने पर जंगली जानवरों का खतरा रहता है।
20 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट
मौसम विभाग ने भोपाल, नर्मदापुरम समेत 20 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। अलीराजपुर, बड़वानी, बुरहानपुर, खंडवा और खरगोन में तेज बारिश हो सकती है। उमरिया, अनूपपुर, डिंडोरी और शहडोल में भारी बारिश के आसार हैं। प्रदेश के बाकी शहरों में हल्की से तेज बारिश हो सकती है।