नहर निर्माण के साथ जल संग्रहण की करें व्यवस्था

0
137

पन्ना। कलेक्टर कर्मवीर शर्मा द्वारा नगर के पेयजल प्रदाय से जुड़े दो तालाबों में बरसात का पानी भरने के लिए पूर्व से बनाई गई। व्यवस्था को पुनर्जीवित करने का कार्य प्रारंभ कराया गया है। इन दोनों तालाबों में बरसात का पानी भरने के लिए किलकिला फीडर नहर के पुनर्जीवन का कार्य प्रारंभ हो चुका है। कार्य एवं नहर का निरीक्षण पहुंचे। कलेक्टर ने कार्य करा रहे मुख्य कार्यपालन यंत्री जल संसाधन एवं मुख्य नगरपालिका अधिकारी को निर्देश दिए कि मैदानी एवं पहाड़ी क्षेत्र से आने वाले पानी को नहर में एकत्र करने के लिए संरचनाएं विकसित की जाएं। जिससे बारिश का बहकर नष्ट होने वाले पानी को सुरक्षित तालाबों में भण्डारित किया जा सके। नहर का पुराव एवं अतिक्रमण होने के कारण बारिश का पानी तालाबों में न पहुंचने के कारण जहां एक ओर बरसात का पानी बहकर नदी में चला जाता है। वहीं बरसाती पानी लोगों को क्षति पहुंचाता है। इन सब बातों को दृष्टिगत रखते हुए कलेक्टर द्वारा नहर के सर्वे कराने के साथ-साथ पूरी कार्ययोजना तैयार कर शासन को स्वीकृति के लिए प्रेषित की गयी थी। अब नहर के पुनर्जीवन का कार्य प्रारंभ कर दिया गया है।