जनसंघ के विचार को कुचलने की बात करने वाली कांग्रेस अब खत्म हो रही हैः विष्णुदत्त शर्मा

0
52

देवास के कार्यकर्ता सम्मेलन में प्रदेश अध्यक्ष ने कहा-डॉ. मुखर्जी ने राजनीति को दी नई दिशा

देवास. आज डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी की जयंती है, जिन्होंने भारत की राजनीति को एक नई दिशा देने का काम किया था। पं. नेहरू की सरकार ने जब कश्मीर में धारा 370 लागू की, तो सरदार पटेल से लेकर डॉ. मुखर्जी तक ने इसका विरोध किया। उन्होंने कहा कि एक देश में दो विधान, दो निशान और दो प्रधान नहीं चलेंगे। डॉ. मुखर्जी ने नेहरू सरकार से इस्तीफा दे दिया और जनसंघ की स्थापना की। उस समय पं. नेहरू ने कहा कि था कि मैं जनसंघ के विचार को कुचलकर रख दूंगा, तब डॉ. मुखर्जी ने कहा था कि मैं जनसंघ को कुचलने के विचार को ही कुचल दूंगा। आज कांग्रेस पूरे देश में खत्म होने की कगार पर है और उसके नेता अप्रासंगिक हो गए हैं। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष श्री विष्णुदत्त शर्मा ने देवास में आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कही।
डॉ. मुखर्जी के बताए रास्ते पर चल रही मोदी सरकार
श्री शर्मा ने कहा कि धारा 370 हटाने के लिए डॉ. मुखर्जी ने अपना बलिदान दे दिया। डॉ मुखर्जी ने जिस विचार के लिए अपना बलिदान दिया और जिस विचार के लिए जनसंघ की स्थापना हुई, मुझे यह बताते हुए गर्व होता है कि उसी विचार से शुरू हुई भारतीय जनता पार्टी आज दुनिया का सबसे बड़ा राजनीतिक दल है। उन्हीं के बताए मार्ग पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में केन्द्र की भाजपा सरकार चल रही है। श्रद्धेय डॉ. मुखर्जी ने जो संकल्प लिया था कि एक देश में दो निशान, दो विधान और दो प्रधान नहीं चलेंगे, धारा 370 को हटाकर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने उस संकल्प को पूरा किया है। कश्मीर में अब दो निशान, दो विधान और दो प्रधान नहीं है। कश्मीर आज भारत का अभिन्न अंग और हमारा मुकुटमणि है, तो यह डॉ. मुखर्जी की बदौलत है।
भाजपा सरकारों की योजनाओं का लक्ष्य अंत्योदय
श्री शर्मा ने कहा कि पं. दीनदयाल उपाध्याय ने अंत्योदय का विचार दिया। पं. उपाध्याय ने कहा था कि अंतिम छोर पर रहने वाले व्यक्ति के जीवन को बदलने की आवश्यकता है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने हर गरीब को राशन और छत देने का काम किया। साथ ही आयुष्मान योजना जैसी अनेकों योजनाएं देकर गरीब का जीवन बदलने का काम किया है। उज्जवला योजना के माध्यम से गृहणियों को धुएं से आजादी दिलायी है। वहीं, मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने संबल योजना लाकर गरीबों को सहारा देने का काम किया। कांग्रेस की 15 महीने की सरकार में कमलनाथ ने गरीबों की सभी योजनाएं बंद करके उनका हक छीन लिया था। पहले मध्यप्रदेश के कई जिलों में बेटियां अभिशाप मानी जाती थीं, परंतु भाजपा सरकार ने 42 लाख बेटियों को लाडली लक्ष्मी बनाकर उन्हें लखपति बनाया।
कार्यकर्ताओं को दिलाया वोट शेयर बढ़ाने का संकल्प
प्रदेश अध्यक्ष श्री शर्मा ने सम्मेलन में उपस्थित कार्यकर्ताओं को प्रत्येक बूथ पर भाजपा का वोट शेयर बढ़ाने का संकल्प दिलाया। उन्होंने कहा कि हमें प्रत्येक बूथ पर वोट शेयर बढ़ाकर 50 प्रतिशत तक ले जाना है और पार्टी के महापौर तथा पार्षद प्रत्याशियों को भारी बहुमत से जिताना है।
इस अवसर पर सांसद श्री महेन्द्र सिंह सोलंकी, महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती माया नारोलिया, जिलाध्यक्ष श्री राजीव खण्डेलवाल, महापौर प्रत्याशी श्रीमती गीता अग्रवाल, श्री विक्रम सिंह पवार, श्री प्रहलाद जोशी, पूर्व महापौर सुभाष शर्मा, श्री नंदकिशोर पाटीदार, श्री रायसिंह सेंधव, श्री राजेश यादव सहित बडी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे।