कांग्रेस को केवल दो लोग चलाते हैं, एक काटते हैं एक छांटते हैं

0
103

नरोत्तम मिश्रा का कांग्रेस पर तीखा हमला

भोपाल। मध्य प्रदेश में निकाय चुनाव के बीच बीजेपी कांग्रेस के नेताओं को बीच जमकर बयानबाजी हो रही है. कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने पिछले दिनों एक बड़ा बयान देते हुए कहा था कि निकाय चुनाव कांग्रेस में जिन नेताओं के टिकट काटे गए हैं वह उनकी वजह से हैं, उनके इसी बयान को लेकर नरोत्तम मिश्रा ने दिग्विजय सिंह और कमलनाथ पर निशाना साधा है. उनका कहना है कि पूरी कांग्रेस को दो लोग ही चला रहे हैं.
कांग्रेस को केवल दो लोग ही चला रहे हैं
जब दिग्विजय सिंह के बयान को लेकर नरोत्तम मिश्रा से सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि ”मध्यप्रदेश में कांग्रेस को दो ही लोग चला रहे हैं एक काटू और दूसरे छाटू, जहां टिकट वितरण पर एक छाट देते है और एक काट देते है, बाकी कांग्रेस लगभग शून्यता की और है.”
नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि ”प्रदेश की जनता सिर्फ विकास चाहती है जिसे सिर्फ भारतीय जनता पार्टी की डबल इंजन वाली सरकार ही कर सकती है. कांग्रेस केवल विभाजन की राजनीति करती है. कांग्रेस का घोषणा पत्र झूठ का पुलिंदा है, जिसे प्रदेश की जनता पहले ही खारिज कर चुकी है. नगरीय निकाय चुनाव में जनता कांग्रेस के घोषणा पत्र पर विश्वास नहीं करेगी.”
दिग्विजय सिंह ने टिकट को लेकर दिया था बड़ा बयान
दरअसल, निकाय चुनाव में कांग्रेस के टिकट वितरण को लेकर बड़ा बयान दिया था, उन्होंने कहा था कि ये मानकर चलिए कि जिनका टिकट कटा, वो दिग्विजय सिंह ने काटा और जिन्हें टिकट मिला, उन्हें कमलनाथ ने दिया!. उनके इसी बयान पर बीजेपी नेता निशाना साध रहे हैं.
ओवैसी के नगरीय निकाय चुनाव में प्रचार पर
ओवैसी जी का स्वागत है, मध्यप्रदेश की जनता जानती है, ओवैसी किस तरीके से विभाजन की राजनीति करते हैं, प्रदेश की जनता ने बीजेपी को जिताने का मन बना लिया है, वहीं कांग्रेस के आरोप पर बोले कि, कांग्रेस का वोट मध्यप्रदेश में बचा नहीं है और हमें किसी बी टीम की जरूरत नहीं है।
पंचायत चुनाव पर
बिना सिंबल के थे इसलिए इस तरह का भ्रम हो रहा है कांग्रेस को कि उनके लोग ज्यादा जीते हैं, वह चाहे तो आमने सामने बैठ जाएं, हम अपने कार्यकर्ताओं के नाम से बता देंगे कितने जीते हैं, और 6 तारीख को सिंबल पर होगा चुनाव तब जनता बता देगी
उपचुनाव पर
यूपी में आजम की ज़ाज़म सिमट गई है और पंजाब में मान का मान काम हो गया है, भगवंत मान खुद अपनी सीट नहीं बचा पाए।
बारिश की आपदा पर
आपदा प्रबंधन की आज शाम को बैठक बुलाई गई है, बैठक में तैयारियों का जायजा लिया जाएगा।
कांग्रेस के घोषणा पत्र पर
जनता ने कांग्रेस का मूल घोषणा पत्र खारिज कर दिया, उस पर भरोसा नहीं रहा, तो अब नगरीय चुनाव में क्या घोषणा करेंगे, पहले के बादे किसान कर्ज माफी, युवाओं को बेरोजगार भत्ता 15 महीने की सरकार में दिया नहीं, इस पर क्या भरोसा करेंगे।
रणजी ट्रॉफी में एमपी की जीत पर
रणजी ट्रॉफी के विजेता आज मध्यप्रदेश की धरा पर आ रहे हैं, यह गौरव और गर्व की बात है, पूरे प्रदेश की जनता के साथ हम उनका स्वागत करेंगे।
कमलनाथ पर
प्रदेश की नगर सरकार बदलने की बात कह रहे हैं, खुद की सरकार संभाली नहीं गई, प्रदेश की बदली थी जब नहीं चला पाए, कमलनाथ के अध्यक्ष रहते विधायक कांग्रेस छोड़कर चले गए, और अगर नगर सरकार बदल देंगे तो पैसा कहां से लाएंगे, क्योंकि केंद्र और प्रदेश में इनकी सरकार है नहीं और विकास के लिए पैसा कहां से लाएंगे, जनता को विकास चाहिए, जो सिर्फ बीजेपी दे सकती है
सीएम शिवराज के भोज कार्यक्रम पर
कांग्रेस अच्छे कामों की शिकायत तो करेगी, समस्याएं को लेकर तो आंदोलन करती नहीं है, जनता के बीच जाते नहीं हैं, राहुल गांधी को ईडी ने भ्रष्टाचार के मामले में पूछताछ के लिए बुला लिया तो सभी कांग्रेस के नेता धरने और आंदोलन पर उतर आए।
इसे विवादित बयान मानता हूं, इनको सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सवाल उठाना है अप्रत्यक्ष रूप से, तीस्ता को जेल भेज दिया गया है, मध्यप्रदेश में कांग्रेस सिर्फ दो लोग ही चला रहे हैं, काटू और छाटू।