नगर निगम बनने पर करेंगे जांच, BJP ने ठेकेदारों को लाभ पहुंचाने के लिए शहर में ठेके दिए

0
44

शिमला। नगर निगम शिमला का चुनाव प्रचार चरम पर है। इस बीच दोनों दलों-राज्य में सत्तारुढ कांग्रेस और प्रमुख विपक्षी भारतीय जनता पार्टी के नेता एक-दूसरे पर जमकर हमलावर हैं। जिसकी वजह ये भी है कि दोनों दलों के लिए नगर निगम शिमला का चुनाव प्रतिष्ठा का सवाल बन चुका है। शनिवार को विपक्ष की तरफ से नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर ने मोर्चा संभाला और सरकार पर निशाना साधा। दूसरी तरफ सत्ताधारी दल कांग्रेस पार्टी से उद्योग मंत्री हर्षवर्धन चैहान ने भाजपा पर पत्रकार वार्ता के दौरान ताबड़तोड़ जुबानी हमले किए।

पिछली भाजपा सरकार पर हमला करते हुए उद्योग मंत्री हर्षवर्धन चौहान ने कहा कि स्मार्ट सिटी के पैसे का जमकर दुरुपयोग हुआ। भाजपा ने ठेकेदारों को फायदा पहुंचाने के लिए शिमला शहर में ठेके दिए। नगर निगम बनने के बाद इसकी जांच की जाएगी। शिमला में पीलिया फैलने के कांग्रेस के हमले पर पार्टी स्वयं घिरती नजर आई। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी सभी 10 गारंटियों को अपने कार्यकाल में पूरा करेगी। जिसमें ओपीएस, महिलाओं को 1500 पेंशन देने सहित युवाओं को नौकरी देने पर सरकार ने काम शुरू कर दिया है।

भाजपा के नेताओं द्वारा ऑपरेशन लोटस के बयानों पर हर्षवर्धन चौहान ने कहा कि भाजपा ख्याली पुलाव पका रही है। कांग्रेस की सरकार मजबूत है और पांच साल तक चलेगी। शिक्षक भर्ती पत्र पर घिरी सरकार के सवाल पर उन्होंने बताया कि ये सिर्फ प्रस्ताव था। सब-कमेटी के कई प्रस्ताव हैं जिनको फाइनल नहीं माना जा सकता। उद्योग मंत्री ने कहा कि स्मार्ट सिटी के पैसे का जमकर दुरुपयोग हुआ। भाजपा ने ठेकेदारों को फायदा पहुंचाने के लिए शिमला शहर में ठेके दिए। नगर निगम बनने के बाद इसकी जांच की जाएगी। शिमला में पीलिया फैलने के कांग्रेस के हमले पर पार्टी स्वयं घिरती नजर आई। कांग्रेस पार्टी के नेता कह रहे हैं कि पीलिया 2018 पहला जबकि सच्चाई यह है कि शिमला में पीलिया 2016 में फैला था। उस वक्त प्रदेश में वीरभद्र सिंह सरकार सत्ता में थी।