कोरोना वायरस से लड़ने में टीके महत्वपूर्ण हैं,केंद्र सरकार

0
67

दिल्ली : केंद्र सरकार ने एक बार फिर स्पष्ट कर दिया है कि कोरोना वायरस से लड़ने में कोरोना के टीके कारगर हैं। इसमें इस बात पर जोर दिया गया है कि एक खुराक लेने से 96.6 प्रतिशत कोविड मौतों को रोका जा सकता है। दो खुराक के बाद कोविड से होने वाली मौतों को रोकने में भी इसकी 97.5 प्रतिशत क्षमता है। यह भी पता चला कि टीका लेने के बाद वायरस के अनुबंध का जोखिम कम था।

मेडिकल रिसर्च काउंसिल ऑफ इंडिया (ICMR) के प्रमुख बलराम भार्गव ने कहा कि इस साल 18 अप्रैल से 15 अगस्त तक देश भर में एकत्र किए गए आंकड़ों से पता चला है कि टीके कोरोनरी मौतों को रोकते हैं। उन्होंने कहा कि टीके सभी उम्र के लोगों की रक्षा करते हैं। दूसरी लहर में अपनी जान गंवाने वालों में से अधिकांश ने टीकाकरण नहीं होने का दावा किया। इसलिए सभी को टीका लगवाने की सलाह दी जाती है।

कोविड टास्क फोर्स के प्रमुख डॉ वीके पॉल ने कहा कि देश में 18 साल से अधिक उम्र के 58 फीसदी लोगों को अब तक कम से कम एक खुराक दी जा चुकी है. उन्होंने कहा कि वंशानुगत रोग प्रतिरोधक क्षमता हासिल करने के लिए बाकी सभी को टीका जरूर लगवाना चाहिए। कोरोना वायरस से बचाव के लिए टीकाकरण बेहद जरूरी है। वीके पॉल ने कहा कि वैक्सीन मिलने के बाद संक्रमित (सफलता) मिलने की संभावना है। हालांकि, ऐसे में मौत का कोई खतरा नहीं है.. अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत भी कम है।

“” डेंगू बुखार चेतावनी.., “”: ——

वीके पॉल ने चेतावनी दी कि जब कोविड फलफूल रहा था तब डेंगू के मामले बढ़ रहे थे। डेंगू को उत्तर प्रदेश में बुखार पैदा करने के लिए जिम्मेदार ठहराया गया है। अत्यधिक सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है क्योंकि डेंगू की रोकथाम के लिए कोई टीका नहीं है। कोविड टास्क फोर्स के प्रमुख वीके पॉल ने कहा कि कोविड के साथ-साथ ऐसे संक्रमणों के खिलाफ लड़ाई जारी रहनी चाहिए।

अकेले केरल में 68% मामले, “”:——

देश के कई हिस्सों में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी है. खासकर केरल में वायरस की गंभीरता काबू में नहीं है। पिछले हफ्ते, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि देश भर में दर्ज कुल मामलों में से 68 प्रतिशत अकेले केरल में थे। कल एक दिन में देशभर में 43 हजार मामले सामने आए.. 338 मौतें हुईं। इसके साथ ही अब तक कोरोना महामारी के पीड़ितों की संख्या 4 लाख 41 हजार को पार कर गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में अब तक कोविड की 71 करोड़ खुराकें दी जा चुकी हैं।

वेंकट, ekhabar रिपोर्टर,