रविवार को गुरु पूर्णिमा पर उपच्छाया चन्द्र ग्रहण, भारत में सूतक नहीं

0
72

देश/जालौन। रविवार को आषाढ़ माह की पूर्णिमा को वर्ष का तीसरा ग्रहण होगा। यह उपच्छाया चन्द्र ग्रहण सुबह ०८:३८ से ११:२१ तक होगा। प्रात: ०९ बजकर ५९ मिनट पर ग्रहण अपने पूर्ण प्रभाव में होगा। यह ग्रहण भारत में नहीं दिखेगा, इसलिए इसका सूतक काल यहाँ नहीं माना जाएगा। यूरोप, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया तथा एशिया में कुछ स्थानों पर दिखायी दिखाई देगा।
उपच्छाया चन्द्र ग्रहण में सूर्य, पृथ्वी व चन्द्रमा एक सीध में ना होकर, सिर्फ़ पृथ्वी की छाया चन्द्रमा पर पड़ती है। जिससे चन्द्रमा का कुछ हिस्सा दिखाई नहीं देता। इसी कारण ज्योतिषानुसार, इसे वास्तविक चन्द्र ग्रहण नहीं माना जाता। परन्तु, वर्ष का तीसरा ग्रहण होने के कारण शास्त्रानुसार इसका बुरा प्रभाव बताया गया है।
आज शनिवार को सुबह ११:३३ से आषाढ़ पूर्णिमा तिथि लग चुकी है, जो कि कल सुबह १० बजकर १३ मिनट तक रहेगी। उदयातिथि अनुसार कल रविवार को गुरु पूर्णिमा होगी। शास्त्रानुसार, महाभारत ग्रन्थ के रचयिता श्री वेदव्यास जी की जन्मतिथि को प्रतिवर्ष गुरु पूर्णिमा के रूप में मनाया जाता है। इस दिन शिष्य अपने गुरुजनों के दाहिने पैर के अंगूठे की पूजा करते हैं। इसी दिन महात्मा बुद्ध ने उत्तर प्रदेश के सारनाथ में अपना पहला उपदेश भी दिया था। सनातन परम्परा में गुरु को ईश्वर से पहले स्थान दिया गया है।


अनुज पाण्डेय जालौन