‘गगनयान -1के लिए विकास इंजन क्षमता परीक्षण सफल

0
71

श्रीहरिकोटा, 24 जनवरी:—- भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने भविष्य में लॉन्च होने वाले अत्यधिक महत्वाकांक्षी गगनयान-1 के लिए तीसरी बार विकास इंजन क्षमता परीक्षण सफलतापूर्वक किया है। इसरो के अधिकारियों ने शनिवार को इस महीने की 20 तारीख को तमिलनाडु के महेंद्रगिरि में इसरो प्रोपल्शन सेंटर (आईपीआरसी) में आयोजित योग्यता परीक्षण के विवरण का मीडिया के सामने खुलासा किया। मानव रहित उपग्रहों के प्रक्षेपण का संचालन करने से पहले इसरो के वैज्ञानिक प्रयोगात्मक रूप से सभी प्रकार के परीक्षण करेंगे।

क्रायोजेनिक और विकासवादी इंजनों के प्रदर्शन और क्षमताओं का पहले परीक्षण किया जाता है। इसरो ने गगनयान-1 परियोजना को सफलतापूर्वक पूरा करने की योजना बनाई है, जिसके लिए विकास के लिए पात्रता निर्धारित करने के लिए लंबे परीक्षण की आवश्यकता है। उस हद तक, वैज्ञानिकों ने पहले एक रॉकेट में ईंधन के चरणों का परीक्षण किया है। गगनयान-1 को जीएसएलवी मार्क-3 रॉकेट से लॉन्च किया जाएगा। इस परियोजना के लिए विकास इंजनों का दो बार परीक्षण किया जा चुका है। इसरो के अधिकारियों ने कहा कि विकास ने 25 सेकंड के लिए इंजन को प्रज्वलित किया और इंजन के प्रदर्शन का परीक्षण किया। in

वेंकट, ekhabar रिपोर्टर,