फ्रांसीसी परिवार की बड़ी बेटी को हुआ डेंगू बुखार, लॉक डाउन से पहले आए थे भारत

0
71
कोरोना के चलते देशभर में लॉक डाउन हो गया था। लॉक डाउन से पहले ही फ्रांसीसी परिवार आए थे भारत घूमने, और लॉक डाउन हो जाने के कारण भारत के उत्तर प्रदेश राज्य के महाराजगंज जिले में ही फंस गए ।
उसके बाद महाराजगंज जनपद के कोल्हुई उर्फ सिन्होरवा  गांव में रह रहे थे। कुछ दिन पहले फ्रांसीसी परिवार की बड़ी बेटी ओपीली को बुखार हुआ।
उसके परिजन उसे इलाज कराने के लिए गोरखपुर के तारामंडल  स्थित शाही ग्लोबल अस्पताल ले गए।
जहां चेस्ट फिजिशियन डॉक्टर ऋषभ गोयल ने जांच कराई। खून की जांच में उसे डेंगू की तस्दीक हुई।
डॉक्टर ने उन्हें ओपीडी में ही दवा देकर मरीज को वापस भेज दिया।   अगले हफ्ते सोमवार को परिजन डॉक्टर को दिखाने के लिए हॉस्पिटल ले गए । डॉक्टर साहब मरीज को देखने के बाद उसकी हालत काफी अच्छी बताया।
प्लेटलेट काउंट भी 1 हफ्ते में 2 गुना हो गया था।
कुछ दवा को देखकर फ्रांसीसी परिवार को डॉक्टर वापस भेज दिए।  अभी फ्रांसीसी परिवार शहर के एक होटल में रह रहे हैं। फ्रांस के टूलुज शहर के रहने वाले पैट्रिस पैलेरस  अपनी पत्नी और बच्चों समेत टूरिस्ट वीजा पर , 20 मार्च को पाकिस्तान से बाघा बॉर्डर होते हुए भारत आए थे। और भारत के विभिन्न स्थानों से होते हुए नेपाल जाना था। मगर कोरोना वायरस के चलते बॉर्डर सील होने के कारण भारत के पुरंदरपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत कोल्हुई ग्राम सभा के एक मंदिर को अपना आशियाना बना लिए थे।
 
रिपोर्टर – रविनंदन गुप्ता।