छतरपुर विधानसभा में केजरीवाल सरकार कर द्वारा चर्च तोड़े जाने का दिल्ली कांग्रेस ने किया विरोध, कहा – चर्च तोड़ना गलत केजरीवाल सरकार इसे बना कर दे

0
72

दिल्ली : दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अनिल चौधरी और दिल्ली उपाध्यक्ष माननीय अली मेहंदी की अध्यक्षता में छतरपुर विधानसभा में अंधेरिया मोड़ स्थित चर्च को केजरीवाल सरकार के मौजूदगी में तोड़ने का आरोप लगा कर विरोध दर्ज कराया। इस दौरान कांग्रेस ने क्रिश्चियन समुदाय के साथ खड़े रहने का आश्वासन भी दिया और केजरीवाल सरकार से फिर से चर्च बनाने की मांग की। साथ ही चर्च के स्थान पर कांग्रेस नेताओं ने जाकर मोमबत्ती जलाई और ईसामसीह से माफी भी मांगी।

इस मौके पर पूर्वांचल समाज के कद्दावर नेता राणा सुजीत सिंह ने कहा कि केजरीवाल सरकार ने जनता के साथ छल किया है। इसलिए अब वो भी भाजपा के नक्शेकदम पर चल कर धर्म की राजनीति कर रही है। जनता ने जिस भरोसे के साथ उनको चुना था, कोरोना काल मे केजरीवाल सरकार और मोदी सरकार ने मिलकर उसका गला घोंटने का काम किया और अब अल्पसंख्यक ईसाई समुदाय के धार्मिक प्रतिष्ठानों पर हमला कर जनता का ध्यान अपनी नाकामयाबी से हटाने में लगा रही है। लेकिन कांग्रेस उनकी हर मनसूबे को समझती है और उनके नापाक मनसूबे को कभी कामयाब नहीं होने देगी। हम सभी ईसाई भाइयों के साथ हैं और पूरी मजबूती से उनके हक अधिकार के लिए लड़ेंगे। यह धर्म निरपेक्ष देश है। यहां धर्म पर राजनीति सही नहीं है।