भोजपुरी की लोकप्रियता को और आगे बढ़ाना है गायक दीपक चौबे ।

0
85

आपको बता दें कि दीपक चौबे उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जनपद के फाजिलनगर में नारायणपुर गांव के निवासी हैं। अभी वे लखनऊ में रहते हैं। दीपक को वैसे गीत संगीत का शौक बचपन से था। साथ ही वे अभिनय में भी माहिर थे। लेकिन संगीत को उन्‍होंने आगे अपना पैशन संगीत को बनाया। कॉलेज में वे नाटक भी करते थे। इतना ही नहीं, वे बॉलीवुड गानों को शब्‍दों को उल्‍टा कर गाते थे। यह उनमें अद्भुत कला थी। दीपक ने अपनी स्‍कूलिंग जवाहर नवोदय विद्यालय से की है। फिर बीटेक किया। उसके बाद एमबीए भी किया। इसी दौरान कॉलेज में उनका चुनाव रेडियो जॉकी के लिए भी हुआा।

भोजपुरी के सबसे लोकप्रिय म्‍यूजिक चैनल से जल्द ही रिलीज होनेवाला दीपक का नया दो गाना ”प्‍यार के दाग” और “लाल लिपिस्टिक” की शूटिंग और एडिटिंग पूरी हो चुकी है ! इस पर गायक दीपक चौबे चाहते हैं कि भोजपुरी म्‍यूजिक को देश के हर भाषा – संस्‍कृति के लोगों से जोड़ा जायेगा जिस के हम सभी लोग अच्छे गाने तैयार कर रहे है आज कल अब भोजपुरी अल्बम और फिल्म में अश्लील गाने रिलीज़ होने बंद हो चुके है लगभग । दीपक इसके लिए दिन रात मेहनत भी कर रहे हैं। भोजपुरी के प्रेम ने ही उन्‍हें मैक्निकल में बीटेक और एमबीए करने के बाद भोजपुरी म्‍यूजिक की दुनिया में ले आया। तभी वे लगातार एक के बाद एक शानदार गानों से भोजपुरी की लोकप्रियता को बढ़ाने में लगे हैं।

मगर दीपक ने अपनी मंजिल संगीत को बनाया और चुना अपनी प्रिय भाषा भोजपुरी को। दीपक अब चाहते हैं कि जिस तरह पंजाबी और राजस्‍थानी संगीत को देशभर की तमाम ऑडियंस ने स्‍वीकारा है। उसी तरह भोजपुरी को भी देश के सभी तरह के लोग अपनाएं। उनके बीच भोजपुरी को पहचान मिले। तभी वे इस दिशा में काम भी कर रहे हैं। गाने लिख रहे हैं। उनका गाना कृष्‍णाज प्रोडक्‍शन से आ चुका है, जिसमें वे कनक पांडेय के साथ नजर आए। इसके बाद वेब म्‍यूजिक से ही ललकी आढ़निया और गाइरंटी भी आया। उन्‍होंने हिंदी में भी काम किया है। बावजूद इसके उनका सपना भोजपुरी को आगे ले जाने की है।