मेरे भाइयों ने हिंदुओं से की शादी’, सलमान खान के वकील ने दी मानहानि के मामले में दलील

0
78

नई दिल्ली। सुपरस्टार सलमान खान का कोर्ट कचेहरी से नाता पुराना है, पर हाल ही में उन्होंने अपने पनवेल वाले फार्महाउस के पड़ोसी के खिलाफ केस कर दिया जिसकी सुनवाई चल रही है। सलमान ने पड़ोसी केतन कक्कड़ के खिलाफ एक दीवानी मुकदमा दायर किया था। अभिनेता ने आरोप लगाया कि केतन ने एक यूट्यूब चैनल को दिए इंटरव्यू के दौरान उन्हें बदनाम किया था। सलमान के वकील प्रदीप गांधी ने कोर्ट को बताया कि केतन के आरोप “बेबुनियाद और निराधार” हैं।

दरअसल, 1995 में, केतन ने कथित तौर पर पनवेल में एक घर/आश्रम/मंदिर बनाने के मकसद से जमीन खरीदी थी। प्रदीप गांधी ने कहा कि यह भूमि महाराष्ट्र सरकार द्वारा रद्द कर दी गई थी, इसे संबंधित वन विभाग द्वारा अवैध माना गया था। पर केतन ने दावा किया था कि ये सब सलमान खान के निर्देश पर हुआ है, उनके कहने के बाद ही भूमि को अवैध माना गया था और वन विभाग द्वारा कथित रूप से रद्द कर दिया गया था।

केतन ने दावा किया कि अभिनेता ने तब कथित तौर पर एक गेट का निर्माण किया, जिसने जमीन के एकमात्र प्रवेश और निकास को अवरुद्ध कर दिया। उन्होंने आगे सलमान पर इको-फ्रेंडली गणेश मंदिर बनाने का आरोप लगाया और इस मंदिर तक पहुंच को अभिनेता द्वारा अवरुद्ध कर दिया गया।

गुरुवार को अदालत की सुनवाई के दौरान, अभिनेता की ओर से उनके वकील ने कहा, ‘एक संपत्ति विवाद में, आप मेरी व्यक्तिगत प्रतिष्ठा को खराब क्यों कर रहे हैं? आप धर्म क्यों ला रहे हैं? मेरी मां एक हिंदू है, मेरे पिता एक मुस्लिम हैं और मेरे भाइयों ने हिंदुओं से शादी की है। हम सभी त्योहार मनाते हैं।’

सलमान खान के वकील ने कोर्ट में कहा कि “मेरी कोई राजनीतिक आकांक्षा नहीं है।” लगाए गए आरोपों को निराधार बताया, साथ ही कहा कि वह न केवल निषेधाज्ञा की मांग कर रहे थे, बल्कि सभी मानहानिकारक कंटेंट को भी हटाने की मांग कर रहे हैं।

बता दें कि इससे पहले, 14 जनवरी को, मुंबई सिटी सिविल कोर्ट ने अभिनेता के पक्ष में कोई अंतरिम निरोधक आदेश पारित करने से इनकार कर दिया। अंतरिम निषेधाज्ञा (आदेश) केतन को मुकदमे के लंबित रहने के दौरान कोई और मानहानिकारक बयान देने से रोकने के लिए उठाया गया था।