एनसीबी को नहीं मिला दीपिका पादुकोण के खिलाफ कोई सबूत, श्रद्धा कपूर और सारा अली खान पर भी नहीं बन पाया कोई आरोप

0
72

उदीयमान अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की संदिग्ध मौत की सीबीआई जांच के दौरान इसमें नशीले पदार्थों के सेवन का मामला ढूंढ रहे नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के सेल्फ गोल ने अब इसकी टीम को अपने कदम वापस खींचने पर मजबूर कर दिया है। मंगलवार एनसीबी अधिकारियों की मुंबई व दिल्ली में हुई बैठकों में ये भी चर्चा हुई कि इस पूरे मामले में खुद एनसीबी की छवि खराब होने से कैसे निपटा जाए? धर्मा प्रोडक्शंस के लिए काम कर चुके क्षितिज प्रसाद के एनसीबी पर लगाए गए आरोपों को लेकर भी एजेंसी सकते में है। सूत्र बताते हैं कि एनसीबी ने अब ये मान लिया है कि दीपिका पादुकोण, श्रद्धा कपूर और सारा अली खान के खिलाफ उसके पास कोई ऐसा ठोस सबूत नहीं है जिसके चलते इन मशहूर हस्तियों को आगे की पूछताछ के लिए बुलाया जा सके।सूत्र बताते हैं कि एनसीबी की जांच से सुशांत सिंह राजपूत की छवि को जो नुकसान पहुंचा है, उसके चलते इस मामले को अब आराम से हल करने के निर्देश ऊपर से मिले हैं। और, इस बीच ये भी साफ हो गया है कि एनसीबी के पास दीपिका पादुकोण, उनकी मैनेजर करिश्मा प्रकाश, श्रद्धा कपूर और सारा अली खान के खिलाफ फिलहाल कोई सबूत नहीं है।
14 जून को अपने घर में संदिग्ध हालात में मृत पाए गए अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की छवि मुंबई फिल्म जगत में वैसी नहीं रह गई है, जैसी उनके निधन से पहले या तुरंत बाद रही है। फिल्म इंडस्ट्री के लोग उन्हें एक समझदार अभिनेता मानते रहे हैं, जिसके पास भविष्य की तमाम योजनाएं थीं और जो खगोलशास्त्र में काफी रुचि रखता था। लेकिन, अब एनसीबी की जांच के दौरान उनकी छवि एक आम नशेबाज और अय्याशी करने वाले अभिनेता की उभर कर सामने आई है।
एनसीबी से जुड़े लोगों ने जिस तरह से पहले श्रद्धा कपूर, सारा अली खान और बाद में दीपिका पादुकोण को लेकर खबरें लीक कीं, वही अब इस एजेंसी पर भारी पड़ रहा है। ये सच है कि इस मामले में श्रद्धा कपूर और सारा अली खान के सुशांत सिंह राजपूत से करीबी रिश्ते होने और मुंबई से दूर एक निर्जन स्थान पर व विदेश में जाकर पार्टी करने की बातों से इन दोनों की छवि भी दरकी है, लेकिन असल नुकसान इसमें सुशांत की छवि को ही हुआ।
बिहार में जल्द होने जा रहे विधानसभा चुनाव से ठीक पहले चर्चा में आए इस पूरे मामले की पटना में एफआईआर दर्ज होने के बाद ये मामला मुंबई पुलिस के हाथ से भले निकल गया हो लेकिन सामने कुछ अब तक सीबीआई की जांच में भी नहीं आया है। अब सुशांत के परिजन और उनके प्रशंसक इस मामले में ढिलाई बरते जाने का आरोप लगा रहे हैं। सीबीआई जांच की तरफ लोगों का ध्यान इसलिए भी नहीं गया क्योंकि एनसीबी से जुड़े लोगों ने इस मामले में मीडिया को जो खबरें दीं, वे अभिनेत्रियों के नाम सामने आने की वजह से ज्यादा संगीन हो चली थीं।