कोंकणा सेन शर्मा ने कहा, ‘आज हम सबसे ज्यादा धर्म को तोड़ने पर ध्यान दे रहे हैं

0
305

नई दिल्ली। बॉलीवुड अभिनेत्री कोंकणा सेन शर्मा इन दिनों अपनी वेब सीरीज ‘मुंबई डायरीज 26/11’ को लेकर सुर्खियों में हैं। यह वेब सीरीज साल 2008 में मुंबई में हुए आतंकी हमले से प्रेरित है। दर्शक ‘मुंबई डायरीज 26/11’ को काफी पसंद भी कर रहे हैं। वहीं कोंकणा सेन शर्मा इस वेब सीरीज के प्रमोशन में जुटी हुईं। इन सबके बीच अब उन्होंने देश को लेकर बड़ी बात बोली है।

कोंकणा सेन शर्मा ने हाल ही में अंग्रेजी वेबसाइट इंडियन एक्सप्रेस को इंटरव्यू दिया। इस इंटरव्यू में उन्होंने अपने फिल्मी करियर के अलावा वेब सीरीज ‘मुंबई डायरीज 26/11’ को लेकर ढेर सारी बाते कीं। कोंकणा सेन शर्मा से पूछा गया कि आतंकवाद से जुड़े विषयों पर जब भी कोई वेब सीरीज या फिल्म बनती है तो लोग एक खास समुदाय और धर्म को दोषी मानने लगते हैं। क्या आपको लगता है कि आपकी वेब सीरीज (मुंबई डायरीज 26/11) में इसके प्रति ज्यादा संवेदनशील नजरिया रखा गया है?

इस सवाल के जवाब में कोंकणा सेन शर्मा ने कहा, यह एक ऐसी मानसिकता है जिससे हमें निपटना है। इस बारे में हमें जागरूक होने की जरूरत है। आतंकवादियों का अपना धर्म होता है, और आतंकवाद किसी भी धर्म से आ सकता है। कट्टरपंथी अपने आप में एक धर्म हैं और यह इस बात पर रोशनी नहीं डालता कि वह किस धर्म से हैं। आज, हम सबसे ज्यादा धर्म को तोड़ने पर ध्यान दे रहे हैं। हमें वास्तव में एक देश के रूप में एक साथ आने, अधिक शांतिपूर्ण होने, अधिक सहिष्णु होने की आवश्यकता है।’

इसके अलावा कोंकणा सेन शर्मा और भी ढेर सारी बातें की हैं। आपको बता दें कि 26 नवम्बर 2008 को मुंबई पर हुए आतंकी हमलों की पृष्ठभूमि पर बनी वेब सीरीज ‘मुंबई डायरीज 26/11’ में कोंकणा सेन शर्मा एक अस्पताल में अधिकारी के किरदार में नजर आएंगी। ‘डॉली किट्टी और वो चमकते सितारे’ और ‘अजीब दास्तांस’ के जरिए कोंकणा ओटीटी प्लेटफॉर्म पर अपनी उपस्थिति दर्ज करवाती रही हैं, मगर पहली बार किसी वेब सीरीज में नजर आएंगी।

26 नवम्बर 2008 को मुंबई पर हुए आतंकी हमलों को पुलिस, सुरक्षा बलों, चश्मदीदों और पीड़ितों के नज़रिए से पहले भी दिखाया जा चुका है, मगर निखिल आडवाणी और निखिल गोंसाल्विस की जोड़ी ने पहली बार डॉक्टरों, नर्सेज़ और मेडिकल स्टाफ के नजरिए से पूरी घटना को दिखाया है। हालांकि, अस्पताल के अंदर की बहुत-सी घटनाएं लेखन टीम की कल्पना का परिणाम है।