तानाजी – द अनसंग वॉरियर में देश की बात कर रहे हैं, ‘हिंदुत्व’ की नहीं: अजय देवगन

0
120

नई दिल्ली : फिल्म अभिनेता अजय देवगन का कहना है कि उनकी फिल्म ‘तानाजी: द अनसंग वॉरियर’ किसी धर्मं के खिलाफ नहीं हैं और यह विदेशी आक्रमणकारियों से देश की सुरक्षा करने के बारे में है। फिल्म तानाजी : द अनसंग वॉरियर 17 वीं शताब्दी के राजा छत्रपति शिवाजी महाराज की सेना के सैन्य योध्या तानाजी मालुसरे के जीवन पर आधारित है। तानाजी ने मुगल साम्राज्य से कोंढाणा किले को वापस लेने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

फिल्म का ट्रेलर देखने के बाद कुछ लोगों की भौंहें तन गई थीं कि अजय देवगन भगवा शक्ति का प्रचार करते हुए दिखाई दे रहे हैं। हालांकि अजय ने कहा कि यह फिल्म किसी भी धर्म को नकारात्मक अंदाज में नहीं दर्शाती है।

इस बारे में बताते हुए अजय देवगन ने कहा, ‘हम देश के बारे में बात कर रहे हैं। हम आजादी के बारे में बात कर रहे हैं। कोई ‘हिंदुत्व’ नहीं है। यह आपके देश के बारे में है। फिल्म में आप देखेंगे कि मुस्लिम योद्धा हैं जो तानाजी के साथ लड़ रहे हैं। हम धर्म के खिलाफ नहीं हैं। जब हम देश के बारे में बात करते हैं, तो कोई धर्म नहीं होता है।’

‘पद्मावत’ और हाल ही में ‘पानीपत’ जैसी फिल्मों में मुस्लिम शासकों के चित्रण के बारे में पूछे जाने पर अभिनेता ने कहा कि सभी भूमिकाएं ऐतिहासिक तथ्यों पर आधारित थे। अलाउद्दीन खिलजी इतिहास के अनुसार बर्बर था। इसलिए नहीं कि वह एक निश्चित धर्म से था इसलिए बर्बर था बल्कि वाकई वह एक बर्बर आदमी था।

इस मौके पर आगे बताते हुए अजय ने कहा, ‘चलो ब्रिटिश शासन के बारे में कोई फिल्म लेते हैं। जब हम विदेश की यात्रा करते हैं, तो क्या हमें ब्रिटिश लोगों को चोट पहुंचाने का मन करता है? हमारे लिए उनका शासन करना गलत था। लेकिन यह कहानी अब खत्म हो गई है। हालांकि यह इतिहास का हिस्सा है। इसलिए इतिहास हैं। किताबें गलत हैं क्या? क्या इतिहास की किताबें क्रिस्चन धर्म के खिलाफ बात कर रही हैं? ऐसा नहीं हैं।’