अच्‍छे रिटर्न का झांसा देने वाले ये प्‍लेटफॉर्म डुबा देंगे गाढ़ी कमाई, BSE-NSE ने जारी की एडवाइजरी

0
486

नई दिल्‍ली। अगर आप शेयर बाजार से अच्‍छा रिटर्न का झांसा देने वाली वेबसाइट के कहने में आएंगे तो आपकी गाढ़ी कमाई डूब जाएगी। जी हां, देश के प्रमुख एक्‍सचेंजों ने इसे लेकर बाकायदा निवेशकों को अलर्ट किया है।

NSE की सलाह

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ने निवेशकों को सलाह दी है कि वे अनियंत्रित ऑनलाइन ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म द्वारा पेश किए जाने वाले कॉन्ट्रैक्ट्स फॉर डिफरेंस और बाइनरी ऑप्शंस जैसे अनियमित उत्पादों से बचना चाहिए। एक बयान में, एक्सचेंज ने कहा कि उसने कुछ अनियमित प्लेटफार्मों और वेबसाइटों को कुछ अनियमित डेरिवेटिव उत्पादों में व्यापार की पेशकश की है जिन्हें कॉन्ट्रैक्ट्स फॉर डिफरेंस (सीएफडी) और बाइनरी विकल्प कहा जाता है। कुछ ऐसी ही एडवाइजरी BSE ने भी जारी की है।

ज्‍यादा रिटर्न का झांसा

नोट किया गया है कि इन वेबसाइटों और प्लेटफार्मों द्वारा अत्यधिक रिटर्न के वादे के शिकार होने वाले निवेशक अंतत: भारी पैसा खो सकते हैं। इसलिए,निवेशकों को सलाह दी जाती है कि वे अनियंत्रित उत्पादों जैसे कॉन्ट्रैक्ट्स फॉर डिफरेंस (सीएफडी) और बाइनरी ऑप्शंस जैसे अनियंत्रित इंटरनेट-आधारित ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म द्वारा पेश किए जाने वाले उत्पादों में निवेश करने से बचें।

सिक्‍योरिटी में कोई डिलीवरी नहीं

मतभेदों के लिए एक अनुबंध (सीएफडी) वित्तीय डेरिवेटिव ट्रेडिंग में की गई एक व्यवस्था है जहां खुले और बंद व्यापार मूल्यों के बीच निपटान में अंतर नकद-निपटान होता है। सीएफडी के साथ भौतिक सामान या प्रतिभूतियों की कोई डिलीवरी नहीं होती है।

यह एक प्रकार का विकल्प अनुबंध है जिसमें भुगतान पूरी तरह से हां,नहीं प्रस्ताव के परिणाम पर निर्भर करता है और आम तौर पर संबंधित होता है कि क्या किसी विशेष संपत्ति की कीमत एक निर्दिष्ट रकम से ऊपर या नीचे गिर सकती है।