Share Market: रिकॉर्ड उच्चतम स्तर 40,800 पर पहुंचा सेंसेक्स, निफ्टी 12,000 पार

0
98

नई दिल्ली । शेयर बाजार आज बुधवार को भारी बढ़त के साथ खुला है। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का संवेदी सूचकांक सेंसेक्स आज 260.1 अंकों की बढ़त के साथ 40,729.80 पर खुला है। बाजार खुलने के बाद सेंसेक्स सुबह 11 बजकर 01 मिनट तक अधिकतम 40,816.38 अंकों तक गया। उधर नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी आज 64.65 अंकों की बढ़त के साथ 12,004.75 पर खुला है। खबर लिखने तक यह अधिकतम 12,038.55 अंकों तक गया।

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का संवेदी सूचकांक आज बुधवार को 10 बजकर 57 मिनट पर 335.59 फीसद की बढ़त के साथ रिकॉर्ड उच्चतम स्तर 40,805.29 पर ट्रेंड कर रहा था। वहीं निफ्टी इस समय 94.10 अंकों की बढ़त के साथ 12,034.20 पर ट्रेंड कर रहा था। इस समय निफ्टी की 50 कंपनियों में से 35 कंपनियों के शेयर हरे निशान पर, 14 कंपनियों के शेयर लाल निशान पर और एक कंपनी का शेयर बिना किसी बदलाव के कारोबार करता दिखाई दिया।

सेंसेक्स बुधवार को 9 बजकर 44 मिनट पर 143.61 अंकों की बढ़त के साथ 40,613.31 पर कारोबार कर रहा था और निफ्टी 35.95 अंकों की बढ़त के साथ 11,976.05 पर कारोबार कर रहा था। इस समय पर निफ्टी की 50 कंपनियों में से 19 कंपनियों के शेयर हरे निशान और 31 कंपनियों के शेयर लाल निशान पर कारोबार कर रहे थे।

इन कंपनियों के शेयरों में दिखी तेजी

शुरुआती कारोबार में नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के निफ्टी की 50 कंपनियों के शेयरों में से सबसे ज्यादा तेजी IndusInd Bank, Zee Entertainment Enterprises, RELIANCE, Adani Ports और SUN PHARMA कंपनियों के शेयरों में दिखी।

इन कंपनियों के शेयरों में दिखी गिरावट

शुरुआती कारोबार में निफ्टी 50 में शामिल कंपनियों में से INFRATEL, Eicher Motors, KOTAK BANK, BAJAJ-AUTO और HCL Technologies कंपनियों के शेयरों में सबसे ज्यादा गिरावट दिखी है।

भारतीय रुपया और क्रूड ऑयल

भारतीय रुपया आज बुधवार को गिरावट के साथ खुला है। रुपया आज 12 पैसे की गिरावट के साथ खुला है। जिससे एक डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपये का मूल्य 71.83 पर आ गया है। गौरतलब है कि मंगलवार को भारतीय रुपया डॉलर के मुकाबले 71.71 पर बंद हुआ था। उधर बुधवार सुबह क्रूड ऑयल WTI का फ्यूचर भाव 0.02 फीसद की गिरावट के साथ 55.34 डॉलर प्रति बैरल पर ट्रेंड कर रहा था और ब्रेंट ऑयल का फ्यूचर भाव 0.18 फीसद की गिरावट के साथ 60.80 डॉ़लर प्रति बैरल पर ट्रेंड था।