Share Market: शुरुआती कारोबार में जबरदस्त गिरावट, सेंसेक्स 450 और निफ्टी 140 अंक टूटा

0
144

नई दिल्ली : स्टॉक मार्केट आज सोमवार को भारी गिरावट के साथ खुला है और शुरुआती कारोबार में भी जबरदस्त गिरावट देखने को मिल रही है। बीएसई का संवेदी सूचकांक सेंसेक्स आज 133.11 अंक की गिरावट के साथ 41,037.01 पर खुला है। खबर लिखे जाने तक यह न्यूनतम 40,708.27 अंक तक गया। वहीं, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी आज 68.30 अंक की गिरावट के साथ 12,012.55 पर खुला है। खबर लिखने तक निफ्टी न्यूनतम 11,928.35 अंकों तक गया।

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सोमवार सुबह 9 बजकर 21 मिनट पर शुरुआती कारोबार में 1.07 फीसद या 439.79 अंक की गिरावट के साथ 40,747.14 पर कारोबार कर रहा था और निफ्टी 1.11 फीसद या 134.45 अंक की गिरावट के साथ 11,946.40 पर कारोबार कर रहा था। इस समय पर निफ्टी-50 में 4 कंपनियों के शेयर हरे निशान पर और 46 कंपनियों के शेयर लाल निशान पर कारोबार करते दिखे।

शेयर बाजार में यह गिरावट दूसरे एशियाई बाजारों में आ रही गिरावट के चलते देखने को मिल रही है। कोरोना वायरस के चाइना के बाहर साउथ कोरिया, इटली और मध्य एशिया में फैलने और वहां वायरस से संक्रमित लोगों और कोरोना से मरने वालों की संख्या में बढ़ोत्तरी से वैश्विक ग्रोथ पर संकट देखा जा रहा है। इसका ही असर शेयर बाजारों पर दिख रहा है।

इन शेयरों में तेजी

शुरुआती कारोबार में सोमवार सुबह निफ्टी-50 की कंपनियों के शेयरों में से केवल चार कंपनियों के शेयरों में ही तेजी देखी जा रही थी। इनमें INFRATEL, INFOSYS, TCS और TECH MAHINDRA शामिल हैं।

इन शेयरों में गिरावट

शुरुआती कारोबार में सोमवार सुबह निफ्टी-50 में शामिल कंपनियों में से HINDALCO, TATA STEEL, YES BANK, VEDANTA LIMITED और JSW STEEL के शेयरों में सबसे ज्यादा गिरावट दिखाई दी।

भारतीय रुपया

भारतीय रुपया सोमवार को भारी गिरावट के साथ खुला है। यह आज एक डॉलर के मुकाबले 24 पैसे की गिरावट के साथ 71.89 पर खुला है। गौरतलब है कि रुपया पिछले सत्र में एक डॉलर के मुकाबले 71.65 पर बंद हुआ था।

क्रूड ऑयल

क्रूड ऑयल की कीमतों में सोमवार सुबह भारी गिरावट देखने को मिल रही है। क्रूड ऑयल डब्ल्यूटीआई का वायदा भाव सोमवार सुबह 2.49 फीसद की गिरावट के साथ 52.05 डॉलर प्रति बैरल पर और ब्रेंट ऑयल का वायदा भाव 2.59 फीसद या 1.50 डॉलर की गिरावट के साथ 56.43 डॉलर प्रति बैरल पर ट्रेंड कर रहा था।