SBI Cards Listing: इश्यू प्राइस से काफी नीचे हुई लिस्टिंग, जानें क्या चल रहे कंपनी के शेयर के भाव

0
112

नई दिल्ली : कोरोनावायरस से जुड़ी अनिश्चितताओं के कारण शेयर बाजार के लुढ़कने का असर बहु-प्रतीक्षित SBI Cards की लिस्टिंग पर पड़ा और कंपनी के शेयर इश्यू प्राइस से करीब सात फीसद नीचे यानी 700 रुपये के आसपास खुले। SBI Cards and Payment Services Ltd के 10,000 करोड़ रुपये के IPO को 22 गुना से अधिक सब्सक्रिप्शन मिला था। मार्केट प्री-ओपन के समय कंपनी के शेयर 661 रुपये यानी इश्यू प्राइस से करीब 90 रुपये नीचे खुले। SBI Cards पहली क्रेडिट कार्ड कंपनी है, जिसे शेयर बाजार में लिस्ट किया गया है। कंपनी के शेयरों की लिस्टिंग ऐसे समय में हुई है जब दुनियाभर में कोरोनावायरस की वजह से उथल-पुथल का माहौल है।

SBI Cards की पैरेंट कंपनी SBI के ट्रैक रिकॉर्ड एवं क्रेडिट कार्ड बाजार में SBI Cards की दमदार उपस्थिति को देखते हुए निवेशकों ने इस IPO में जबरदस्त रुचि दिखाई थी। हालांकि, सब्सक्रिप्शन के लिए आइपीओ के बंद होने के साथ परिस्थितियों ने ऐसी पलटी मारी कि इस कंपनी के शेयर पर अच्छी-खासी प्रीमियम की उम्मीद कर रहे निवेशक सोच में पड़ गए। एक तरफ जहां कोरोनावायरस की वजह से दुनियाभर के शेयर बाजारों में अभूतपूर्व गिरावट देखने को मिली, वहीं यस बैंक संकट ने घरेलू शेयर बाजारों का संकट और बढ़ा दिया।

सोमवार को 700 रुपये प्रति शेयर की दर पर लिस्टिंग के बाद कंपनी के एक शेयर की कीमत तेजी से चढ़ी और ऊपर में 753 रुपये तक गई। हालांकि, इसी दौरान भारी बिकवाली की वजह से कंपनी के शेयरों के दाम में एक बार फिर गिरावट देखने को मिल रही है और सुबह साढ़े दस बजे कंपनी के एक शेयर की कीमत 728 रुपये के आसपास आ गई है।

स्टॉक ब्रोकिंग कंपनी ‘वेल्थ डिस्कवरी’ के डायरेक्टर राहुल अग्रवाल के मुताबिक शेयर बाजार में अभी उथल-पुथल का माहौल जरूर है लेकिन निवेशकों को घबराने की जरूरत नहीं है। बकौल राहुल निवेशक SBI Cards के शेयरों को होल्ड कर सकते हैं क्योंकि कंपनी का रिकॉर्ड काफी साफ-सुथरा है इसलिए निवेशकों को धैर्य का परिचय देना चाहिए।