4 दिन में देश के सबसे बड़े निवेशक ने की करीब 500 करोड़ रुपये की कमाई, आपके पास भी है मौका

0
151

नई दिल्ली. आ​र्थिक सुस्ती और इक्विटी बाजार (Equity Market) के खराब प्रदर्शन के बावजूद भी दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला (Rakesh Jhunjhunwala) और उनकी पत्नी रेखा लगातार मोटी कमाई कर रहे हैं. राकेश और रेखा झुनझुनवाला ने महज 4 कारोबारी सत्र में ही 483.75 करोड़ रुपये की कमाई की है. दरअसल, दोनों के पोर्टफोलियो में टाइटन कंपनी के शेयर्स थे, जिसने जबरदस्त रिटर्न दिया है.

राकेश और रेखा झुनझुनवाला के पास टाइटन कंपनी (Titan Company) के कुल 6968.12 करोड़ रुपये के शेयर्स हैं. टाइटन कंपनी में राकेश झुनझुनवाला की हिस्सेदारी 5.75 फीसदी हिस्सेदारी के साथ 5.10 करोड़ शेयर्स (Shares) की है. जबकि, उनकी पत्नी रेखा के पास इस कंपनी में 1.30 फीसदी हिस्सेदारी के साथ कुल 1.15 करोड़ शेयर्स हैं.

17 साल पहले 3 रुपये के भाव खरीदे थे टाइटन के शेयर्स: बता दे कि अप्रैल—जून तिमाही खत्म होने के बाद राकेश झुनझुनवाला को टाइटन के शेयर्स से कुल 394.74 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ. इस दौरान उनकी पत्नी रेखा ने भी टाइटन के शेयरों से करीब 89.01 करोड़ रुपये की कमाई कीं. राकेश झुनझुनवाला ने वित्त वर्ष 2002—03 में टाइटन कंपनी के 6 करोड़ शेयर्स खरीदा था. उस दौरान टाइटन के एक शेयर की कीमत मात्र 3 रुपये थी, जोकि अब बढ़कर 1,000 रुपये प्रति शेयर से भी अधिक की हो गई है.

शुक्रवार दोपहर को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज पर टाइटन के शेयर्स 2.76 फीसदी की बढ़त के साथ 1,117 रुपये प्रति​ शेयर के स्तर पर करोबार करते नजर आये. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर भी कंपनी के शेयरों में 2.75 फीसदी की बढ़त दर्ज की जा रही थी.

आखिर क्यों टाइटन के शेयरों में आई इतनी तेजी: बीते 4 सितंबर को टाइटन के शेयर्स 1037.5 रुपये प्रति शेयर के भाव पर ट्रेड कर रहे थे. लेकिन, इसके बाद से कंपनी के शेयर्स 80 अंक तक बढ़ चुक हैं. दरअसल, बीते 5 सितंबर को रेटिंग एजेंसी इकरा ने टाइटन के कॉमर्शियल पेपर प्रोग्रम को पॉजिटिव रेटिंग दी थी. इकरा ने टाइटन के 900 करोड़ रुपये के कॉमर्शियल पेपर के लिए A1+ रेटिंग दी थी. साथ ही, 1700 करोड़ के फंड और नॉन फंड बेस्ड को भी AA+ (पॉजिटिव) और A1+ (आउटस्टैंडिंग) रेटिंग दी थी. यही नहीं, इकरा ने कंपनी के 1500 करोड़ रुपये के फिक्स्ड डिपॉजिट प्रोग्राम को भी आउटस्टैंडिंग रेटिंग दी. टाइटन कंपनी की लिक्विडिटी को देखते हुए इकरा ने पॉजिटिव रेटिंग दी थी.