PPF, SSY की ब्याज दरों पर आज आएगा बड़ा फैसला, अभी इन Schemes पर मिल रहा है इतना रिटर्न

0
128

नई दिल्ली। पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund), सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana), किसान विकास पत्र (KVP), नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (NSC) व अन्य लघु बचत योजनाओं (Small Saving Schemes) पर अगली तिमाही (जुलाई से सितंबर, 2021) के ब्याज दरों का ऐलान बुधवार को सरकार द्वारा किया जाएगा। ये सभी स्कीम काफी पॉपुलर हैं और इस पर मिलने वाले ब्याज पर आम लोगों की निगाहें लगी रहती हैं। सरकार हर तिमाही की शुरुआत से एक दिन पहले नई तिमाही के लिए दरों की घोषणा करती है।

अप्रैल-जून तिमाही में ब्याज दर

चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही यानी अप्रैल से जून तिमाही के लिए सरकार द्वारा 31 मार्च को घोषित ब्याज दरों को लेकर काफी विवाद हुआ था। दरअसल, सरकार ने अप्रैल से जून तिमाही के लिए PPF, SSY, सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम (SCSS) व अन्य स्कीम्स पर ब्याज दरों में काफी अधिक कटौती की घोषणा की थी। बड़े पैमाने पर लोगों ने सोशल मीडिया पर ब्याज दरों में कटौती का विरोध किया था। इस ऐलान के अगले ही दिन इस कटौती को वापस ले लिया गया था। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने तब कहा था कि सरकार ब्याज दरों में कटौती के फैसले को वापस लेगी। उन्होंने कहा था कि ऐसा गलती से हो गया था।

अभी कितना मिल रहा है ब्याज

PPF पर ब्याज की दर मौजूदा दर 7.1 फीसद है। SCSS पर इस समय 7.4 फीसद, NSC पर 6.8 फीसद, सेविंग डिपोजिट पर चार फीसद, पांच साल के मंथली इनकम स्कीम (MIS) पर 6.6 फीसद और सुकन्या समृद्धि योजना पर 7.6 फीसद है।

PPF के बारे में जान लीजिए

यह केंद्र सरकार की एक स्कीम है। इससे रिटायरमेंट के लिए एक बड़ी पूंजी तैयार करने, बच्चों की पढ़ाई को ध्यान में रखकर एक फंड तैयार करने में मदद मिलती है। यह योजना 15 साल के लिए होती है। उसके बाद आप कितनी भी बार पांच-पांच साल के लिए उसे बढ़ा सकते हैं। इस स्कीम में हर साल कम-से-कम 500 रुपये और अधिकतम 1.5 लाख रुपये का निवेश किया जा सकता है। यह स्कीम देश के वेतनभोगी तबके में काफी पॉपुलर है।

SSY से जुड़ी खास बातें

यह स्कीम 10 साल तक की बच्चियों के लिए है। कोई भी व्यक्ति अपनी 10 साल से कम उम्र की बेटी का SSY Account खुलवा सकता है। आप पोस्ट ऑफिस या बैंकों के जरिए इस स्कीम में खाता खुलवा सकते हैं। इस स्कीम के जरिए आप अपनी बेटी की उच्च शिक्षा के लिए एक बड़ा फंड तैयार कर सकते हैं। इस स्कीम के लिए ब्याज दर का निर्धारण हर तिमाही की शुरुआत से पहले होता है।