पेटीएम के शेयरों में जबरदस्‍त उछाल, बाजार में तेजी के बावजूद LIC के स्‍टॉक सपाट

0
105

नई दिल्‍ली । Paytm के शेयरों में सोमवार को शुरुआती कारोबार के दौरान अच्‍छी-खासी तेजी देखी गई। खबर लिखे जाते समय BSE पर Paytm के शेयर 8.40 प्रतिशत यानी 48.35 रुपये की तेजी के साथ 623.70 रुपये के स्‍तर पर कारोबार कर रहे थे। शुक्रवार को पेटीएम के शेयर 575.35 रुपये के स्‍तर पर बंद हुए थे। वहीं, बाजार के तेजी के बावजूद LIC के स्‍टॉक्‍स 0.06 प्रतिशत की गिरावट के साथ 825.75 रुपये प्रति शेयर पर कारोबार करते नजर आए। शुक्रवार को LIC के शेयर 826.25 रुपये के स्‍तर पर बंद हुए थे।

पेटीएम ने वित्‍त वर्ष 2022 की चौथी तिमाही के नतीजों की घोषणा की थी जिसके अनुसार कंपनी का समेकित शुद्ध घाटा बढ़कर 761 करोड़ रुपये हो गया जो एक साल पीले की समान तिमाही में 444 करोड़ रुपये था। वित्‍त वर्ष 2022 की चौथी तिमाही में Paytm का राजस्‍व 89 प्रतिशत बढ़कर 1,541 करोड़ रुपये के स्‍तर पर पहुंच गया। इसके पीछे ग्रॉस मर्चेंडाइज वैल्‍यू (GMV) में अच्‍छी ग्रोथ रही। इस अवधि के दौरान Paytm ने 21 लाख नए MDR उपकरण वितरित किए। साथ ही, लोन के मूल्‍य में भी जबरदस्‍त बढ़ोतरी दर्ज की गई।

Paytm के शेयरों ने अबतक 511 रुपये का निम्‍नतम स्‍तर छुआ है। वहीं, 13 हफ्ते में यह 1,961.05 रुपये के उच्‍चतम स्‍तर तक पहुंचा है। कई ब्रोकरेज हाउस की सलाह है कि लंबे समय में Paytm के शेयर निवेशकों को बेहतर रिटर्न दे सकते हैं।

तीन से 5 महीने में हट सकता है Paytm Bank पर लगा प्रतिबंध
पेटीएम को उम्‍मीद है कि उसकी सहयोगी कंपनी Paytm Payments Bank पर नये ग्राहकों को जोड़ने को लेकर लगी पाबंदी 3 से 5 महीने में हट सकती है। बैंकिंग नियामक भारतीय रिजर्व बैंक के साथ कंपनी इस दिशा में काम कर रही है। पेटीएम ग्रुप के चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर मधुर देवड़ा के हवाले से समाचार एजेंसी पीटीआई ने कहा कि RBI से क्लियरेंस मिलने में अब से 3-5 महीने तक का वक्‍त लग सकता है। RBI कभी यह नहीं कहता कि इतने महीने में काम हो जाएगा। यह एक प्रक्रिया है, और जब वे संतुष्‍ट हो जाते हैं तो हमें नए ग्राहकों को जोड़ने की अनुमति मिल जाएगी।