चीनी कंपनियों के साथ डाटा शेयर करने के आरोप पर आया पेटीएम का बयान

0
58

नई दिल्ली। पेटीएम पर आरोप लगा है कि वह भारतीय यूजर्स का डाटा चीन की कंपनियों के साथ शेयर कर रही थी। ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट में यह बात कहा गया था। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार, आरबीआई की जांच में पेटीएम द्वारा चीनी कंपनियों के साथ डाटा शेयर किए जाने का पता चला है। हालांकि, पेटीएम ने चीनी कंपनियों के साथ डाटा शेयर करने के आरोप वाली रिपोर्ट्स का खंडन किया और कहा कि रिपोर्ट पूरी तरह से झूठी है। बता दें कि हाल ही में आरबीआई ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक पर नए ग्राहक जोड़ने को लेकर रोक लगा दी है, इसके बाद से पेटीएम के शेयर भी गिरने लगे हैं।

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट में कहा गया था कि RBI की जांच में डाटा लीक का पता चला है और पेटीएम पर डाटा शेयर नियम के उल्लंघन का आरोप है, जिसके लिए भारत सरकार उसपर कार्रवाई करेगी। ब्लूमबर्ग ने मामले के एक परिचित व्यक्ति का हवाला देते हुए रिपोर्ट किया था कि इसी कारण आरबीआई ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक को 11 मार्च को नए ग्राहकों को जोड़ने से रोक दिया था। लेकिन, डाटा लीक के आरोपों का खंडन किया। पेटीएम के विजय शेखर शर्मा ने एक टीवी चैनल को बताया कि RBI ने डाटा लीक का कोई जिक्र नहीं किया है और किसी भी विदेशी के पास हमारे सर्वर्स का एक्सेस नहीं है।

इसी बीच सोमवार को पेटीएम की मूल कंपनी वन 97 कम्युनिकेशंस के शेयरों (Paytm Share Price) में गिरवाट दर्ज की गई। BSE में पेटीएम का शेयर 684.00 रुपये पर खुला था और 675.35 रुपये पर बंद हुआ जबकि इसका पिछला बंद 774.80 रुपये पर था। इस हिसाब से इसमें 99.45 रुपये या 12.84 फीसदी की गिरावट रही। दिन के कारोबार के दौरान पेटीएम का शेयर 719.20 रुपये के उच्च स्तर और 662.25 के निचले स्तर तक गया था।