Gold Monetization Scheme: घर में पड़े सोने से करिए कमाई, जानें क्या है तरीका

0
105

नई दिल्ली : आप सोने में इंवेस्ट करना चाहते हैं तो आपके दिमाग में सबसे पहला सवाल क्या आता है। सोना की सिक्योरिटी का सवाल। Gold को सुरक्षित रखना अपने आप में बहुत बड़ी चुनौती है। सामान्य तौर पर सोने को सुरक्षित रखने के लिए लोग लॉकर का इस्तेमाल करते हैं। हालांकि, सवाल है कि क्या बैंक के लॉकर में भी आपका सोना सुरक्षित है? बैंक लॉकर में रखे गए सामान के लिए तो किसी तरह का इंश्योरेंस भी नहीं मिलता है। हालांकि, Gold Monetization Scheme सोने का सिक्योर रखने का सबसे सुरक्षित तरीका हो सकता है। इस योजना के तहत सोने को डिपोजिट करने पर रिटर्न भी मिलता है। हालांकि, आपको वैसा ही सोना इस योजना के तहत रखना चाहिए, जिसका इस्तेमाल आप नहीं कर रहे हों।

इस योजना को ऐसे किया जा सकता है सब्सक्राइब
घरों में पड़े हुए सोने को मोबलाइज करने के लिए और बेहतर इस्तेमाल में लाने के लिए वर्ष 2015 में इस स्कीम की शुरुआत की गई थी। इस स्कीम को सब्सक्राइब करने के लिए आपको अपने गोल्ड को लेकर अधिकृत प्यूरिटी टेस्टिंग सेंटर (पीटीसी) में जाना होगा। इस सेंटर में आपको गोल्ड के वैल्यू के मुताबिक सर्टिफिकेट मिल जाएगा। आप उसी सेंटर में अपना सोना जमा कर सकते हैं।

सर्टिफिकेट लेकर जाना होगा बैंक
इसके बाद आपको पीटीसी का सर्टिफिकेट लेकर निर्धारित बैंक की शाखाओं तक जाना होगा। इसके बाद अगर आपका सेविंग अकाउंट है तो अच्छी बात है, नहीं है तो आपको सेविंग अकाउंट खुलवाना होगा। इसके बाद बैंक गोल्ड के वैल्यू की बराबर राशि का एक डिपोजिट अकाउंट खोल देता है। इसके बाद डिपोजिट पर मिलने वाले ब्याज को आपके सेविंग अकाउंट में क्रेडिट कर देता है।

लघु अवधि से दीर्घ अवधि तक कर सकते हैं निवेश
आप अपनी सुविधा और जरूरत के हिसाब से गोल्ड को लघु अवधि (एक से तीन वर्ष), मध्यम अवधि (पांच से सात वर्ष) या लंबी अवधि (12 से 15 वर्ष) के लिए डिपोजिट कर सकते हैं। आपको निवेश के काल के हिसाब से ब्याज मिलता है।

आपको सोने के डिपोजिट पर सालाना ब्याज मिलता है। आपको हर साल 31 मार्च को डिपोजिट पर सालाना ब्याज मिलता है। ध्यान देने वाली बात यह है कि आप कम अवधि के जमा पर ही गोल्ड को वापस ले सकते हैं।