Coronavirus के चलते पिछले साल के स्तर से भी नीचे रह सकती है वैश्विक ग्रोथ: IMF चीफ

0
109

नई दिल्ली : अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (IMF) की प्रमुख क्रिस्टलीना जॉर्जीएवा ने कोरोना वायरस को वैश्विक अर्थव्यवस्था और लोगों के स्वास्थ्य के लिए गंभीर चुनौती बताया है। जॉर्जीएवा ने बुधवार को यह बात कही। उन्होंने कहा कि इस संकट के चलते वैश्विक ग्रोथ प्रभावित हो सकती है। उन्होंने कहा, ‘कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते मौजूदा वर्ष में ग्रोथ रेट पिछले साल के 2.9 फीसद से नीचे जा सकती है।’

आईएमएफ चीफ ने कोरोना वायरस (COVID-19) को वैश्विक समस्या बताया है। उन्होंने कहा, ‘अब कोरोना वायरस कोई क्षेत्रीय मुद्दा नहीं रह गया है, बल्कि यह एक वैश्विक समस्या बन गई है। उन्होंने इस संकट से निपटने के लिए वैश्विक स्तर पर कदम उठाए जाने का आह्वान भी किया।

जॉर्जीएवा ने कहा कि जानलेवा कोरोना वायरस के फैलने से कॉन्फिडेंस प्रभावित हुआ है। उन्होंने कहा कि इस वायरस को रोकने के लिये जो कदम उठाये जा रहे हैं, उससे आर्थिक गतिविधियों पर भी भारी असर पड़ रहा है। आईएमएफ चीफ ने कहा कि इस समस्या के चलते साल 2020 में वैश्विक ग्रोथ पिछले साल के स्तर से नीचे आ जाएगी।

गौरतलब है कि अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष ने जनवरी में वैश्विक ग्रोथ के 3.3 फीसद रहने का अनुमान जताया था। इस तरह अनुमान है कि इस जानलेवा वायरस के चलते वैश्विक ग्रोथ को करीब आधा फीसद का नुकसान हो सकता है। पिछले साल वैश्विक ग्रोथ 2.9 फीसद रही थी।