Nirmala Sitharaman Budget Speech: अर्थव्यवस्था की बुनियाद मजबूत, महंगाई को काबू में किया गया: सीतारमण

0
114

नई दिल्ली : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को संसद में अपना दूसरा बजट पेश किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था की बुनियाद मजबूत है और महंगाई को अच्छी तरह से रोका गया है, जबकि बैंकों ने संचित कर्ज को साफ कर दिया है। बजट पेश करते हुए उन्होंने कहा कि हमारा ध्यान लोगों की आय बढ़ाकर उनसे ज्यादा से ज्यादा खरीदारी करवाना है ताकि इससे अर्थव्यवस्था को गति मिले। वित्त मंत्री ने कहा कि 2014-19 के दौरान, सरकार ने शासन में बदलाव किया। उन्होंने कहा कि GST में एतिहासिक संरचनात्मक सुधार रहा है। यह देश को आर्थिक तौर पर एकीकृत करता है। GST का जिर्क करते हुए उन्होंने कहा कि अप्रैल 2020 तक जीएसटी का आसान वर्जन आएगा, सीतारमण ने कहा कि जीएसटी लागू करना सरकार का ऐतिहासिक फैसला है। आज बजट भाषण पढ़े हुए निर्मला सीतारमण ने जीएसटी के लिए पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली को याद किया।

बजट भाषण के दौरान वित्त मंत्री ने कहा कि दूध मांस तथा मछली समेत खराब होने वाली वस्तुओं के लिए किसान रेल चलाई जाएगी। बजट भाषण में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, 2020-21 के लिए 15 लाख करोड़ का कृषि कर्ज का लक्ष्य रखा गया है। प्रधानमंत्री किसान के सभी पात्र लाभार्थी केसीसी स्कीम में शामिल किए जाएंगे। उन्होंने कृषि और उससे संबेधित क्रियाकलापों-सिंचाई और ग्रामीण विकास क्षेत्र के लिए 3 लाख करोड़ रुपए का आवंटन। उन्होंने कहा कि पानी की कमी से जूझ रहे 100 जिलों के लिए व्यापक उपाय किए जाने का प्रस्ताव।

पंडित दीनानाथ कौल द्वारा रचित कविता के माध्यम से बजट सत्र को संबोधित करते हुए केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, ‘हमारा वतन खिलते हुए शालीमार बाग जैसे, हमारा वतन डल झील में खिलते हुए कमल जैसा, नवजवानों के गर्म खून जैसा, मेरा वतन, तेरा वतन, हमारा वतन दुनिया का सबसे प्यारा वतन।