Festive Season में नहीं होगी कैश की किल्लत, बैंकों ने की ये पहल

0
121

नई दिल्ली । विभिन्न सेक्टर की कंपनियों के साथ बैंक भी त्योहारी सीजन में डिमांड बढ़ाने की मुहिम में जुट गए हैं। त्योहारों के दौरान ग्राहकों के पास नकदी सुनिश्चित करने के लिए सरकारी बैंकों ने लोन मेलों की शुरुआत कर दी है। वहीं, प्राइवेट सेक्टर के बैंक आसान शर्तों एवं विभिन्न ऑफरों के लोन का ऑफर दे रहे हैं। बैंक इसके जरिए उपभोक्ताओं के सेंटिमेंट को मजबूत बनाने में लगे हैं।

सरकारी बैंकों ने गुरुवार को देशभर में 226 स्थानों पर लोन मेला लगाने का कार्यक्रम जारी कर दिया। निजी क्षेत्र के कोटक महिंद्रा बैंक ने ‘कोना-कोना ख्वाब’ नाम से अपना लोन फेस्टिवल शुरू किया है। इस लोन स्कीम के तहत बैंक ग्राहकों को विभिन्न प्रकार के लोन पर प्रोसेसिंग और फोरक्लोजर (अवधि से पहले पूरे कर्ज का भुगतान करना) फीस पर 25 से 100 फीसद तक की छूट दे रहा है। बैंक ने ऑटो लोन के लिए ‘बाय नाऊ पे लेटर’ ऑफर की पेशकश की है जिसमें अभी खरीदने पर ईएमआइ अगले वर्ष जनवरी से शुरू होगी।

कोटक महिंद्रा बैंक की प्रेसिडेंट (कंज्यूमर बैंकिंग) शांति एकम्बरम ने बताया कि घरेलू इकोनॉमी में मांग बढ़ाने के सरकार के प्रयासों के साथ कदम बढ़ाते हुए यह स्कीम शुरू की गई है। बैंक के ये सभी ऑफर देश भर में 3,500 प्वाइंट पर उपलब्ध होंगे।

एकम्बरम ने बताया कि महिलाओं के लिए बैंक त्योहारी सीजन में अतिरिक्त ऑफर प्रदान कर रहा है। महिलाओं को नए कर्जे पर ब्याज में 0.25 फीसद से 0.5 फीसद तक की छूट देने का ऑफर भी बैंक ने किया है। बैंक त्योहारी सीजन में कृषि से लेकर छोटे कारोबारियों और खुदरा विक्रेताओं से लेकर ग्राहकों तक के लिए कई ऑफर लेकर आया है। एकम्बरम ने बताया कि बैंक की कोशिश ग्राहकों में विश्वास भरने की है।

तीन दिन पूर्व ही एचडीएफसी बैंक ने भी त्योहारी सीजन में ग्राहकों को कर्ज पर कई तरह के छूट का प्रस्ताव किया था। पिछले दिनों सरकारी और बाद में निजी बैंकों के साथ हुई बैठक में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मांग बढ़ाने की दिशा में अपने अपने स्तर पर काम करने का आग्रह किया था।