मध्यप्रदेश की बदलती तस्वीर आत्म-निर्भर भारत के सपने को पूरा करेगी

0
40

केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी ने कहा है कि मुख्यमंत्री श्री चौहान के नेतृत्व में मध्यप्रदेश का चहुँमुखी विकास हो रहा है। मध्यप्रदेश की बदलती तस्वीर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के आत्म-निर्भर भारत के सपने को पूरा करेगी। आने वाले समय में मध्यप्रदेश देश के विकसित प्रदेशों में अग्रणी होगा। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत सुपर इकॉनामिक पॉवर बनेगा और उसमें मध्यप्रदेश का महत्वपूर्ण योगदान होगा।

केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी ने आज बरसैता रीवा में आज रूपये 2443.89 करोड़ की लागत की कुल 204.81 किलोमीटर लंबी 7 सड़क परियोजनाओं का लोकार्पण/शिलान्यास किया। उन्होंने 4 लेन चुरहट बायपास व 6 लेन टनल, सतना से बेला तक चार लेन सड़क का (पेव्ड शोल्डर के साथ), सीआरआईएफ के अंतर्गत रीवा शहर में काँक्रीट-सीमेंट सड़क, गाजन, मगरवार, इटौर, खम्हरिया गोरैया तक दो लेन सड़क एवं सज्जनपुर-छिबौरा-गाजन खंड पर दो लेन सड़क का लोकार्पण किया। साथ ही ब्यौहारी से आदर्श ग्राम न्यू सपटा मार्ग और सीआरआईएफ के अंतर्गत देवतालाब-नईगढ़ी रोड के निर्माण कार्यों का शिलान्यास किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने की।

मंत्री श्री गडकरी ने अति आधुनिक रीवा-सीधी 6 लेन टनल का अवलोकन किया और किये गये कार्य की सराहना की। श्री गडकरी ने कहा कि रीवा-सीधी टनल भारत की सबसे पहली “एक्वा डक्ट” है। इसके ऊपर बाणसागर नहर और रोड बना हुआ है। यह देश के इतिहास की एक महत्वपूर्ण टनल है। इससे क्षेत्र के विकास को नई दिशा मिलेगी। इस टनल में 300 मीटर के बाद दूसरी टनल के लिये कनेक्टिविटी दी गई है, 46 एक्जास्ट फेन हैं, ऑप्टिकल फाइबर लेन है, साथ ही एलएक्सबीसी सिस्टम और फायर फाइटिंग सिस्टम है। उन्होंने इस कार्य के लिये संबंधित इंजीनियर्स को धन्यवाद और शुभकामनाएँ दीं।

केन्द्रीय मंत्री श्री गडकरी ने उत्कृष्ट निर्माण कार्य के लिये श्री राहुल दुबे, श्री संजय कुमार सिंह, श्री अजीत स्वाइन, श्री राकेश पटेल, श्री कपिल शर्मा, श्री अवध सिंह, श्री रामविलास सिंह पटेल, श्री सुमेश बांजल और टीम लीडर श्री विवेक जायसवाल को उत्कृष्टता पुरस्कार भी प्रदाय किये। उन्होंने रीवा के विकास पर आधारित पुस्तिका का विमोचन भी किया।

मंत्री श्री गडकरी ने कहा कि मध्यप्रदेश में उच्च गुणवत्ता के 5 ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस-वे/हाई-वे बनाये जा रहे हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री श्री चौहान से कहा कि इन हाई-वे के पास लॉजिस्टिक पार्क और इंडस्ट्रियल एरिया विकसित किया जाये। मुम्बई-दिल्ली एक्सप्रेस-वे का 245 किलोमीटर का हिस्सा मध्यप्रदेश में बनेगा। अटल प्रोग्रेस-वे, इंदौर-हैदराबाद 6 लेन, उज्जैन-गरोठ 4 लेन और आगरा-ग्वालियर ग्रीन फील्ड हाई-वे बनाये जा रहे हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री श्री चौहान की मांग पर नर्मदा परिक्रमा पथ की सभी मिसिंग लिंक को पूरा किया जाने की घोषणा की। साथ ही कहा कि प्रदेश के सभी सड़क परिवहन संबंधी प्रस्तावों को स्वीकृत किया जायेगा।

केन्द्रीय मंत्री श्री गडकरी ने कहा कि मध्यप्रदेश में उद्योगों के लिये सभी आवश्यक सुविधाएँ पानी, ऊर्जा, परिवहन और संचार की उत्कृष्ट व्यवस्था है। प्रदेश में सिंचाई के साधनों के विकास से कृषि का उत्पादन बढ़ा है। कृषि के क्षेत्र में आज मध्यप्रदेश देश में प्रथम है। इसके लिये मुख्यमंत्री श्री चौहान बधाई के पात्र हैं। विंध्य क्षेत्र के विकास में भी मध्यप्रदेश आगे है। मुख्यमंत्री श्री चौहान जहाँ अन्य क्षेत्रों के लिये एक रूपया देते हैं, वहीं विंध्य क्षेत्र के विकास के लिये सवा रूपया देते हैं। प्रदेश में अमृत सरोवर निर्माण का भी अच्छा कार्य हो रहा है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और केन्द्रीय मंत्री श्री नितिन गडकरी देश का तेज गति से विकास कर रहे हैं। आज का दिन विंध्य की धरती के लिये ऐतिहासिक है। क्षेत्र में अदभुत टनल बनाई गई है। श्री गडकरी ने मध्यप्रदेश सहित पूरे प्रदेश में सड़कों का जाल बिछा दिया है। उन्होंने विकास में धन की बिल्कुल कमी नहीं आने दी है। मध्यप्रदेश के रोड इतने अच्छे बन गये हैं कि आज हमारे मंत्री श्री गोपाल भार्गव सागर से साढ़े तीन घण्टे में रीवा आ गये हैं।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश की कृषि विकास दर जो कभी 3 प्रतिशत हुआ करती है आज 15.8 प्रतिशत हो गई है। सिंचाई क्षमता में निरंतर वृद्धि हो रही है। सड़क, परिवहन व्यवस्थाएँ उत्कृष्ट हो गई हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि विंध्य की एक-एक इंच जमीन में सिंचाई की व्यवस्था की जायेगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नर्मदा परिक्रमा पथ सहित प्रदेश के लिये कई मार्गों के निर्माण की मांग केन्द्रीय मंत्री श्री नितिन गडकरी के समक्ष रखी। श्री गडकरी ने सभी मांगों को पूरा किये जाने का आश्वासन दिया।

लोक निर्माण, कुटीर एवं ग्रामोद्योग मंत्री श्री गोपाल भार्गव ने कहा कि आज प्रदेश के लिये बड़ी प्रसन्नता का दिन है। केन्द्रीय मंत्री श्री गडकरी इतने विकास कार्यों का एक साथ शिलान्यास/भूमि-पूजन कर रहे हैं। अत्याधुनिक रीवा-सीधी टनल भारत की सबसे चौड़ी और मध्यप्रदेश की सबसे लम्बी टनल है। इसके बनने से 30-35 मिनिट लम्बा रास्ता 5 मिनिट का रह जायेगा। इससे क्षेत्र का आर्थिक-सामाजिक और औद्योगिक विकास गति पकड़ेगा। सांसद श्रीमती रीती पाठक, श्री जनार्दन मिश्रा और श्री गणेश सिंह ने भी संबोधित किया।

खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री बिसाहूलाल सिंह, पंचायत और ग्रामीण विकास राज्य मंत्री श्री रामखेलावन पटेल, विधायक श्री राजेन्द्र शुक्ल, जन-प्रतिनिधि और बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।

केन्द्रीय मंत्री श्री गडकरी ने की घोषणाएँ

सतना-मैहर सड़क का निर्माण शुरू हो गया है, इसके साथ सतना से चित्रकूट मार्ग का भी उन्नयन किया जाएगा। रीवा जिले में कलवारी से सिरमौर तक 35 किलोमीटर सड़क निर्माण का डीपीआर मंजूर, दिसम्बर 2022 से कार्य होगा शुरू। सिरमौर से डभौरा तक 38 किलोमीटर सड़क निर्माण के लिए 152 करोड़ रुपए मंजूर। सीधी से चितरंगी होकर सिंगरौली तक 112 किलोमीटर सड़क निर्माण के लिए 450 करोड़ रुपए मंजूर। उमरिया-शहडोल मार्ग में 4 आरोबी तथा दो बाईपास रोडों का निर्माण मंजूर।

शहडोल से सगरा टोला होकर अमरकंटक तक की सड़क का निर्माण मंजूर, दिसम्बर माह से ही निर्माण कार्य शुरू होगा। मध्यप्रदेश में अटल प्रगति हाइवे का निर्माण कार्य शीघ्र शुरू होगा। इसमें मध्यप्रदेश में 306 किलोमीटर हाइवे का निर्माण किया जाएगा। इंदौर से मुम्बई तथा इंदौर से हैदराबाद हाईवे का निर्माण मंजूर किया गया है। उज्जैन से गरोठ तक सड़क का निर्माण मंजूर किया गया है। सीधी से सिंगरौली हाईवे के निर्माण की सभी बाधाएं दूर कर दी गई हैं। इसका नए सिरे से निर्माण कार्य शुरू हो गया है। इसका निर्माण कार्य दिसम्बर 2023 तक पूरा होगा। रीवा में टू लेन के बाईपास के रोड को फोरलेन सड़क बनाने का कार्य मंजूर किया जाता है। इसका निर्माण शीघ्र शुरू होगा। बेला से सिलपरा रिंग रोड का काम तेजी से पूरा कराया जाएगा। सतना शहर में कृपालपुर से बाईपास तक एनिमेटेड रोड बनाई जाएगी। दमोह से नागौद-सिरमौर होते हुए शंकरगढ़ तक सड़क का निर्माण किया जाएगा, जिससे प्रयागराज के लिए सीधे मार्ग की सुविधा मिले। रीवा शहर में ढेकहा तिराहे में ओवरब्रिज का निर्माण किया जाएगा।

रीवा-प्रयागराज मार्ग में चाकघाट के बघेड़ी चौराहे में फुट ओवर ब्रिज का निर्माण मंजूर किया जाता है। विभिन्न जनप्रतिनिधियों द्वारा सीआरएफ मद से प्रस्तावित सभी निर्माण कार्यों को मंजूरी दी जाती है। नर्मदा परिक्रमा पथ अमरकंटक से बड़ौदा तक बनाया जाएगा। इसमें से जिस भाग में फोरलेन सड़क नहीं है वहाँ फोरलेन सड़क का निर्माण कराया जाएगा। अमरकंटक से डिंडौरी होकर जबलपुर तक का कार्य 2024 तक पूरा हो जाएगा। जबलपुर से बाड़ी बरेली-नसरूल्लागंज होकर इंदौर तक सड़क का निर्माण भी मंजूर किया जाता है। पिपराही से जड़कुड़ तक सड़क निर्माण मंजूर किया जाता है। रीवा-सीधी सड़क का फोरलेन में उन्नयन होगा। मध्यप्रदेश में इस वित्तीय वर्ष में 21 रेलवे ओवरब्रिज का निर्माण मंजूर किया गया है।