प्रचलन में बढ़ रही है 500 रुपए की नकली करेंसी

0
41

अक्सर लोगों को इस बात की चिंता रहती है कि आपसी लेनदेन में उनके पास कहीं से नकली नोट न आ जाएं। आपने अक्सर देखा होगा कि बाजार में नोट लेने के बाद दुकानदार सबसे पहले उसे चेक करता है कि नोट नकली तो नहीं है। सामान्य लोगों को नोटों के असली-नकली होने का पता नहीं चलता। देश के केंद्रीय बैंक भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने भी अपनी रिपोर्ट में नकली करंसी को लेकर चिंता जाहिर की है। आरबीआई की सालाना रिपोर्ट में बताया गया है कि सर्कुलेशन में 500 रुपये के नकली नोट की घुसपैठ में लगातार बढ़ती जा रही है।

एटीएम से नकली नोट निकलें तो क्या करें ?

2022-23 में 500 रुपये के करीब 91,110 नकली नोट पकड़े गए। 2020-21 में 500 रुपये के 39,453 नकली नोट पकड़े गए थे और 2021-22 में 76,669 नकली नोट पकड़े गए थे। इसका मतलब 2021-22 के मुकाबले 2022-23 में 500 रुपये के नकली नोट 14.6 फीसदी ज्यादा हैं और इसमें साल-दर-साल बढ़ोतरी हो रही है। आइए समझते हैं, नकली नोट मिलने पर क्या करें। एटीएम से नकली नोट निकलने पर आरबीआई का नियम है कि अगर किसी बैंक के एटीएम से नकली नोट निकला है, तो वह बैंक अनिवार्य रूप से उस नोट को बदलकर देगा। अगर वहां कोई सिक्योरिटी गार्ड है तो उसे भी इसकी जानकारी दें।

किसी लेनदेन में नकली नोट मिलें तो क्या करें

हालांकि, इसके लिए आपको नकली नोट की पहचान एटीएम के सामने ही करनी होगी और उसके बाद वहां लगे कैमरे पर नोट का अगला और पिछला दोनों हिस्सा दिखाना होगा। आपको बड़ी संख्या में नकली नोट मिलते हैं तो आप इसे जितनी जल्दी हो सके आरबीआई के नजदीकी ब्रांच में ले जाएं। आपके पास इसका पुख्ता सुबूत होना चाहिए। साथ ही नजदीकी पुलिस स्टेशन को भी इसकी जानकारी दें। अगर कोई व्यक्ति किसी ब्रांच में 2000 रुपये के नोट जमा करने के लिए आता है और उनके नोटों में से कुछ नकली निकलते हैं, तो ऐसी स्थिति में बैंक की तरफ से नोट को जब्त कर आगे की कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

क्या हैं आरबीआई के दिशा-निर्देश

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के निर्देशों के मुताबिक यदि एक ट्रांजैक्शन में चार नकली नोट निकलते हैं, तो नोडल बैंक अधिकारी महीने के अंत में पुलिस को रिपोर्ट करें। इसके साथ संदेहजनक जाली नोट भी पुलिस के पास जमा करें। यदि किसी ट्रांजैक्शन में एक साथ पांच नकली नोट निकलते हैं, तो नोडल ऑफिसर तुरंत स्थानीय पुलिस को इसकी जानकारी देगा। साथ ही एफआईआर दर्ज करवाकर इसकी जांच भी की जाएगी। एफआईआर की एक कॉपी मेन ब्रांच को भेजी जाएगी।

नकली नोट की ऐसे करें पहचान

  • फ्रंट पर बाईं ओर नीचे दी गई हरी पट्टी के थोड़ा ऊपर दो रंग में 500 लिखा रहता है
  • हरी पट्टी पर 500 अंक की लेटेंट इमेज छपी होती है जिसे नोट को ऊपर की ओर झुकाने पर देखा जा सकता है
  • नोट पर देवनागरी में 500 लिखा होता है
  • महात्मा गांधी का चित्र नोट में बीच में होता है
  • गांधी के चित्र पर माइक्रो लेटर्स में भारत और इंडिया लिखा रहता है
  • कलर शिफ्ट विंडो वाला सिक्योरिटी थ्रेड नोट को झुकाने पर धागे का रंग हरे से नीला हो जाता है
  • प्रॉमिस क्लॉज के साथ आरबीआई गवर्नर के हस्ताक्षर के नीचे और महात्मा गांधी के चित्र के दाईं ओर आरबीआई का लोगो रहता है
  • नोट के दाईं और दिए गए क्रीम वाइट स्पेस में गांधी जी का पोर्ट्रेट और इलेक्ट्रोटाइप (500) वॉटरमार्क होता है
  • नोट के ऊपर बाईं तरफ और नीचे दाईं तरफ बढ़ते हुए फॉन्ट में अंकों वाला नंबर पैनल होता है
  • दाईं तरफ उसी क्रीम/व्हाइट स्पेस में रुपये के सिंबल के साथ कलर चेंजिंग इंक (ग्रीन से ब्लू) के साथ 500 अंकित होता है
  • नोट के दाहिनी तरफ अशोक स्तंभ अंकित है
  • महात्मा गांधी के पोर्ट्रेट, अशोक स्तंभ और उसके बिल्कुल ऊपर काले गोले में अंकित 500 को थोड़ा उभरा हुआ रखा गया है, ताकि देख न सकने वाले लोग इसे छूकर पहचान सकें।