जिस कंपनी के फाउंडर हैं रतन टाटा, उसके शेयरों ने कर दिया कंगाल

0
66

टाटा ग्रुप की कंपनी, जिसके फाउंडर रतन टाटा हैं, उसके शेयर इस साल अपने निवेशकों को काफी नुकसान पहुंच चुके हैं। साल की शुरुआत में टाटा की इस कंपनी में निवेश करने वालों का एक लाख अब घटकर 50000 हो गए हैं।
जिस कंपनी के फाउंडर हैं रतन टाटा, उसके शेयरों ने कर दिया कंगाल

टाटा ग्रुप की कंपनी, जिसके फाउंडर रतन टाटा (Ratan Tata) हैं, उसके शेयर इस साल अपने निवेशकों को काफी नुकसान पहुंच चुके हैं। साल की शुरुआत में टाटा (Tata Group) की इस कंपनी में निवेश करने वालों का एक लाख अब घटकर 50000 रुपये से भी कम हो गए हैं। हम बात कर रहे हैं टाटा टेलीसर्विसेज लि. (TTML) की।

टीटीएमएल के शेयर इस साल अब तक 50.75 फीसद लुढ़क कर 106.70 रुपये पर आ गए हैं। 3 जनवरी 2022 यह स्टॉक 216.65 रुपये पर था। इसके बाद 11 जनवरी को यह ऑल टाइम हाई 290.15 रुपये पर पहुंच गया। इसके बाद से इसमें गिरावट का सिलसिला शुरू हुआ तो 8 मार्च को 93.55 रुपये पर आ गया। हालांकि गुरुवार को टीटीएमल के शेयरों में तेजी देखी गई और 2.99 फीसद की बढ़त के साथ 106.70 रुपये पर बंद हुआ।

टीटीएमएल की प्राइस हिस्ट्री

बता दें 11 जनवरी 2022 को जब यह स्टॉक अपने उच्च स्तर पर था तो यह अपने उन निवेशकों को मालामाल कर गया, जो इसे बेचकर निकल लिए। इसके बावजूद टीटीएमएल पिछले 3 साल में इसने 3900 फीसद का रिटर्न दिया है। अगर एक साल की बात करें तो इसका रिटर्न 481 फीसद से घटकर 167 फीसद पर आ गया है। पिछले 5 साल में इसने 1727 फीसद का रिटर्न दिया है।

क्या करती है टीटीएमएल?

टीटीएमएल, टाटा टेलीसर्विसेज की सब्सिडियरी कंपनी है। यह कंपनी अपने सेगमेंट में मार्केट लीडर है। कंपनी वॉइस, डेटा सर्विसेज देती है। कंपनी के ग्राहकों की लिस्ट में कई बड़े नाम है।

मार्केट एक्सपर्ट्स के मुताबिक बीते महीने कंपनी ने स्मार्ट इंटरनेट बेस्ड सर्विस कंपनियों के लिए शुरू की है। इसे जबरदस्त रिस्पॉन्स मिल रहा है, क्योंकि इसमें कंपनियों को फास्ट इंटरनेट के साथ क्लाउड बेस्ड सिक्योरिटी सर्विसेज और ऑप्टोमाइज्ड कंट्रोल मिल रहा है। इसकी सबसे बड़ी खासियत क्लाउड आधारित सिक्योरिटी है जिससे डेटा को सुरक्षित रखा जा सकेगा। जो बिजनेस डिजिटल आधार पर चल रहे हैं, उन्हें इस लीज लाइन से बहुत मदद मिलेगी। इसमें हर तरह के साइबर फ्रॉड से सुरक्षा का इंतजाम इन-बिल्ट किया गया है, साथ में फास्ट इंटरनेट की सुविधा दी जा रही है।