Bypolls results : यूपी- त्रिपुरा में भाजपा आगे, छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को बढ़त

0
155

नई दिल्ली । यूपी की हमीरपुर, छत्तीसगढ़ की दंतेवाड़ा, केरल की पाला, त्रिपुरा की बाधरघाट की विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव की मतगणना जारी है। हमीरपुर सीट पर 23 सिंतबर को हुए उपचुनाव में 51 फीसद वोटिंग हुई थी। जबकि छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा विधानसभा सीट के लिए उपचुनाव में 60.1 फीसद वोटिंग हुई थी।

-हमीरपुर में भाजपा के युवराज सिंह लगातार बढ़त बनाए हुए हैं। यहां 11वें चरण के बाद भी भाजपा 3993 वोटों से आगे चल रही है।

-छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा से कांग्रेस की देवती कर्मा आगे चल रही हैं। पिछले साल हुए विधानसभा चुनाव वह भाजपा के भीमा मंडावी से इस सीट पर हार गई थीं।

– छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस आगे चल रही है।

-हमीरपुर में दसवें राउंड के बाद भाजपा 3277 वोट से आगे चल रही है। भाजपा के युवराज सिंह को 17344 और समाजवादी के मनोज कुमार प्रजापति को 14067 वोट मिले हैं।

-यूपी के हमीरपुर सीट पर बीजेपी के युवराज सिंह आगे चल रहे हैं।

-केरला की पाला विधानसभा सीट पर एलडीएफ के मनि सी कप्पन 3000 वोटों से आगे चल रहे हैं।

– त्रिपुरा की बधारघाट सीट पर भाजपा के मिनी मजूमदार आगे चल रहे हैं।

यूपी की सीट पर कुल प्रत्याशी

-केरल की पाला विधानसभा सीट से एलडीएफ 3 हजार से अधिक वोटों से आगे चल रही है।

-हमीरपुर सीट पर भाजपा के युवराज सिंह, बसपा के नौशाद अली, सपा के डॉ. मनोज कुमार प्रजापति और कांग्रेस के हर दीपक निषाद सहित 9 उम्मीदवार चुनावी मैदान में उतरे थे। इस उपचुनाव में विपक्षी दलों के किसी बड़े नेता ने प्रचार नहीं किया था। जबकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खुद भाजपा प्रत्याशी युवराज सिंह के समर्थन में प्रचार किया था।

बता दें कि हमीरपुर विधायक रहे अशोक सिंह चंदेल को हत्या के एक मामले में हाई कोर्ट से आजीवन कारावास की सजा मिलने के बाद उनकी सदस्यता खत्म होने से यह सीट रिक्त हुई थी।

केरल के पाला विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव में 13 उम्मीदवार उतरे हैं। यहां पूर्व वित्त मंत्री एवं केरल कांग्रेस (एम) के नेता केएम मणि के निधन के चलते उपचुनाव हुए हैं। जबकि त्रिपुरा की बाधारघाट सीट से भाजपा विधायक दिलीप सरकार के निधन के कारण रिक्त है।

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा विधानसभा सीट पर भी उपचुनाव हुए। यहां 9 अप्रैल को नक्सलियों ने विस्फोट कर भाजपा विधायक भीमा मंडावी की गाड़ी को उड़ा दिया था जिसमें मंडावी, उनके ड्राइवर की मौत हो गई थी। उनके साथ तीन पुलिसकर्मी भी शहीद हो गए थे।