केंद्रीय मंत्री ने कहा- मोदी सरकार ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए उठाए कई कदम

0
120

नई दिल्ली । भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित केरल की मेडिकल की छात्रा की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। यह छात्रा चीन के वुहान से लौटी थी और भारत से कोरोना वायरस से संक्रमित पहली मरीज थी। पहले उसकी टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इस बीच, लोकसभा में सरकार ने बताया कि देश में कोरोना वायरस से निपटने के लिए कई कदम उठाए गए हैं। अब तक लगभग दो लाख यात्रियों की विभिन्न हवाईअड्डों पर थर्मल स्क्रीनिंग की गई है।

भारत में कोरोना वायरस का पहला मरीज हुआ रोगमुक्त

त्रिसूर में केरल स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि कोरोना वायरस की पहली पीडि़ता के ब्लड सैंपल को अल्पुझा स्थित राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान (एनआइवी) भेजा गया था, जहां रिपोर्ट निगेटिव आई है। लेकिन अभी पुणे स्थित एनआइवी से इसकी पुष्टि होनी बाकी है। छात्रा की हालत स्थिर है। राज्य में अभी 3,367 लोगों को निगरानी में रखा गया है, जिनमें से 31 विभिन्न अस्पतालों के आइसोलेशन वार्ड में हैं। वहीं, महाराष्ट्र में विभिन्न अस्पतालों के आइसोलेशन वार्ड में रखे गए 37 में से 34 लोगों को छुट्टी दे दी गई है।

देश के 21 हवाईअड्डों पर 1.97 लाख लोगों की हुई थर्मल स्क्रीनिंग- हर्षवर्धन

लोकसभा में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने बताया कि देश के विभिन्न हवाईअड्डों पर 1,818 उड़ानों से आए 1,97,192 लोगों की स्क्रीनिंग की गई है। 12 बंदरगाहों पर भी यात्रियों की जांच की व्यवस्था की गई है। नेपाल में एक मामले की पुष्टि होने के बाद वहां से आने वाले लोगों की भी सीमा पर जांच की जा रही है।

50,000 व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण जमा करने का लक्ष्य

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने चीन में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए देश में डॉक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों के लिए 50,000 व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण जमा करने का लक्ष्य रखा है। डिस्पोजल कपड़े, जूते, मास्क और दस्ताने शामिल हैं। भारत कोरोना वायरस के खतरे वाले 30 देशों में शामिल है।

प्रवासियों पक्षियों का कोरोना वायरस से कोई संबंध नहीं

केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा है कि प्रवासी पक्षियों का कोरोना वायरस से कोई संबंध नहीं है। प्रवासी पक्षियों से कोरोना वायरस के तेजी से फैलने की खबरें भ्रामक हैं।

चीन को मास्क व सुरक्षा उपकरणों के निर्यात को मंजूरी

भारत ने हवा में फैले वायरस से बचाव करने वाले कपड़े और मास्क समेत कुछ व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरणों के चीन को निर्यात करने की मंजूरी दे दी है। चीन में भारत के राजदूत विक्रम मिस्त्री ने सोमवार को यह जानकारी दी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग को पत्र लिखकर कोरोना वायरस से हुई मौंतों पर गहरी संवेदना जताते हुए भारत की तरफ से हर संभव मदद की पेशकश की थी। पीएम के पत्र के बाद ही निर्यात से पाबंदी हटाने का फैसला किया गया। कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए सरकार ने 31 जनवरी को व्यक्तिगत सुरक्षा मेडिकल उपकरणों के निर्यात पर पाबंदी लगा दी थी।