राजनाथ बोले- बंगाल में खेला होबे… निश्चोई होबे… बोड़ो खेला होबे लेकिन ऐई खेला विकास का होबे

0
106

कोलकाता। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल सरकार पर जमकर निशाना साधा। रक्षा मंत्री ने कहा कि बंगाल में 34 साल सीपीएम और 10 साल तृणमूल कांग्रेस की सरकार रहने के बावजूद बंगाल जो औद्योगिक राज्य के रूप में माना जाता था 44 साल में इन पार्टियों ने बंगाल को तबाह कर दिया। हमने पश्चिम बंगाल में हाईवे बनाने के लिए बहुत पैसे दिए है। मैं जानता हूं कि हाईवे बनाने के लिए हमने जो पैसा दिया है अब वह न लटकेगा, न भटकेगा, न अटकेगा और हाईवे बनेगा क्योंकि तृणमूल कांग्रेस जा रही है और भाजपा आ रही है।

रक्षा मंत्री ने कहा कि भूतपूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी कहते थे कि क्या करूं मजबूर हूं, मैं दिल्ली से 100 पैसा भेजता हूं लेकिन नीचे तक 14 पैसे पहुंचते हैं। मोदी जी ने कहा हम मजबूर नहीं मजबूत प्रधानमंत्री हैं। हम 100 पैसा भेजेंगे और 100 पैसा ही नीचे पहुंचेगा। पश्चिम बंगाल में आज न मां सुरक्षित, न माटी सुरक्षित और मानुष सुरक्षित है। करीब 150-200 भाजपा कार्यकर्ता पिछले सात आठ वर्षों में पश्चिम बंगाल में मारे गए हैं। करीब डेढ़ हजार लोग घायल हुए हैं।

राजनाथ सिंह ने कहा कि पश्चिम बंगाल में भ्रष्टाचार और राजनीतिक हिंसा एक महामारी की तरह है। इसकी वैक्सीन हमारे प्रधानमंत्री के पास है। मैं अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं का अभिनंदन करूंगा कि इतनी विपरीत परिस्थितियों में भी वह काम कर रहे हैं। रक्षा मंत्री ने बालाकोट एयर स्ट्राइक का भी जिक्र किया। उन्‍होंने कहा कि दो साल पहले आज 26 फरवरी के ही दिन बालाकोट एयर स्ट्राइक को अंजाम दिया गया था। इसलिए मैं आप सभी से कहूंगा कि दोनों हाथ उठाकर भारतीय वायुसेना के शौर्य और पराक्रम का तालियां बजाकर अभिनंदन करें।

रक्षा मंत्री ने कहा कि सीमाओं की पवित्रता हम किसी भी सूरत में भंग नहीं होने देंगे। हम बांग्लादेश के साथ लगते इलाकों में अवैध घुसपैठ, स्मगलिंग और मानव तस्‍करी पर पूरी तरह विराम लगाएंगे। जब केंद्र में यूपीएक की सरकार थी तो 13वें वित्‍त आयोग के अंतर्गत केवल एक लाख 32 हजार करोड़ रुपए पश्चिम बंगाल को मिले थे जबकि एनडीए के आने के बाद पश्चिम बंगाल को 14वें वित्‍त आयोग के अंतर्गत 4 लाख 48 हजार करोड़ रुपए दिए गए।

राजनाथ सिंह ने कहा कि ममता दीदी कह रही है बंगाल में ‘खेला होबे’। वह सही कह रही हैं। ‘खेला होबे’…. निश्चोई होबे… अब तो पश्चिम बंगाल में बोड़ो खेला होबे। ऐई खेला विकास का होबे। ऐई खेला शांति का होबे। ममता दीदी ऐई ‘दादागिरी’ चोलबे न… इसलिए आने वाले विधानसभा चुनावों में परिवर्तन करिए और ‘शोनार बांगला’ का सपना साकार करके रहेंगे।

रक्षा मंत्री ने बालूरघाट में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि यह क्षेत्र मां बुरीकाली, मां बोल्ला रक्षा काली की पवित्र भूमि है। यहां पर जहां सरोज रंजन चट्टोपाध्याय जैसे क्रांतिकारियों ने जन्म लिया वहीं तेभागा आंदोलन का यह स्थान केंद्र रहा है। साथ ही यह बालूरघाट मन्मथ रॉय जैसे नाट्य कर्मी की रंगभूमि भी रहा है। बंगाल की यह भूमि चैतन्य महाप्रभु की धरती है। यह धरती स्वामी रामकृष्ण परमहंस, स्वामी विवेकानंद और महर्षि अरविंद की भूमि है।

रक्षा मंत्री ने कहा कि करीब 764 किलोमीटर हाइवे को चौड़ा करने पर 1200 करोड़ रुपए पश्चिम बंगाल की तृणमूल कांग्रेस सरकार को दिए गए लेकिन मुझे पता चला है कि यहां की टीएमसी सरकार ने ठीक से काम ही नहीं कराया है। मुझे पता चला कि बालूरघाट से कलकत्ता के पास बाबूघाट तक जाने में 16 घंटे का समय लगता है।

राजनाथ सिंह ने कहा कि अब इस बार के बजट में भी मार्च 2022 तक पश्चिम बंगाल में 8500 किलोमीटर हाईवे बनाने का प्रस्ताव रखा गया है। इसके लिए 25000 करोड़ रूपए पश्चिम बंगाल के लिए आवंटित किए गए हैं। मगर डर इस बात का है कि कहीं यह काम भी यहां की टीएमसी सरकार लटका न दे, अटका न दे या भटका न दे। लेकिन अब यहां के लोगों ने टीएमसी को विदा करने का मन बना लिया है। भाजपा आ रही है इसलिए ये काम ना अंटकेंगे ना भटकेंगे…