यूएन प्रमुख का बोले- दूसरे विश्व युद्ध के बाद से कोरोना वायरस का खतरा सबसे गंभीर

0
244

संयुक्त राष्ट्र। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस (UN Secretary-General Antonio Guterres) ने चेतावनी दी है कि द्वितीय विश्व युद्ध (World War II) के बाद से दुनिया इस समय सबसे चुनौतीपूर्ण संकट का सामना कर रही है। दुनिया भर के देश कोरोना वायरस (COVID-19) की महामारी का सामना कर रहा है।

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने मंगलवार को कोरोना वायरस के सामाजिक आर्थिक प्रभावों पर एक रिपोर्ट जारी करते हुए कहा कि कोरोना महामारी की वजह से दुनिया में अस्थिरता, अशांति और संघर्ष बढ़ेगा। उन्होंने सामाजिक और आर्थिक तबाही पैदा करने वाले कोरोना वायरस से वैश्विक स्तर पर और मजबूती से लड़ने का आह्वान किया। उन्होंने जोर देकर कहा कि यह तभी संभव होगा जब सभी लोग एक साथ आएंगे और अगर हम राजनीतिक मुद्दों को भूल कर मानव जाति के लिए काम करें।

गुटेरेस द्वारा जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि संयुक्त राष्ट्र के 75 साल के इतिहास में आज तक ऐसे वैश्विक स्वास्थ्य संकट नहीं देखा गया है, जो लोगों को मार रहा है, उनको संक्रमित कर रहा है और लोगों के जीवन को खतरे में डाल रहा है। यह एक स्वास्थ्य संकट से कहीं ज्यादा एक मानवीय संकट है। कोरोना वायरस समाजों को उनके मूल पर हमला कर रहा है।

महासचिव ने संवाददाताओं से कहा कि हम अभी भी उस लक्ष्य से बहुत दूर हैं, जहां से दुनिया भर में कोरोना वायरस से प्रभावी ढंग से लड़ सकते हैं। उन्होंने कहा कि कई देश डब्ल्यूएचओ के दिशानिर्देशों का पालन नहीं कर रहे हैं। यह बहूत जरूरी है कि विकसित देश अपने स्वास्थ्य प्रणालियों की मदद से इसके ट्रांसमिशन को रोकने के लिए कम विकसित देशों की तुरंत सहायता करें।