महाराष्ट्र: NPR पर महागठबंधन में रार की खबरों के बीच उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस को लेकर दिया ये बयान

0
96

मुंबई: महाराष्ट्र विधानसभा का बजट सत्र रविवार से शुरू होगा. बजट सत्र के हंगामेदार रहने की संभवनाए हैं. बजट के पहले उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने रविवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की जिसमें उन्होंने कहा कि विपक्ष को जिम्मेदारीपूर्वक काम करना चाहिए, सिर्फ विरोध करना ही विपक्ष का काम नहीं.

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान ठाकरे ने कहा कि नागरिकता कानून और एनपीआर को लेकर मैंने अपने सामना इंटरव्यू में भी अपना रुख साफ किया है. NPR को लेकर जो सवाल आएंगे, तब हम तीनों पार्टियां साथ बैठकर इसपर चर्चा करेंगे. मेरी और कांग्रेस की सीएए और एनपीआर पर चर्चा हुई है.

उद्धव ठाकरे ने कानून-व्यवस्था को लेकर केंद्र सरकार को आड़े हाथ लिया. उद्धव ने कहा कि नागरिकता पर महाराष्ट्र में कई दिनों से चल रहे प्रदर्शन में कहीं दंगा नहीं हुआ. दिल्ली में केंद्र सरकार की सुरक्षा है, उत्तर प्रदेश में भी है और वहां के हालात आप देख सकते हैं. हमारी कानून-व्यवस्था पर सवाल उठाने वालों को वो भी देखना चाहिए.

ठाकरे ने कहा कि किसानों के 2 लाख रुपये तक के कर्जमाफी की पहली सूची कल जारी की जाएगी. इसके बाद और भी कई सूची को जारी किया जाएगा. सरकार का कहना है कि किसानों की कर्जमाफी पर 35 लाख लोगों की जानकारी जमा की है, कल पहली सूची जारी की जाएगी, अप्रैल तक इसे खत्म कर दिया जाएगा. ठाकरे ने कहा, “हम केवल किसी को खुश करने के लिए जारी नहीं कर रहे हैं. शिवभोजन भी सही तरीके से चल रहा है, लोग उससे खुश हैं.”

उधर, बजट सत्र से पहले हुई बीजेपी की प्रेस कॉन्फ्रेंस में विपक्ष पक्ष के नेता देवेंद्र फडनवीस ने सरकार पर आरोप लगाया कि उन्होंने किसानों से जो वायदा किए गए थे, वो पूरे नहीं किए गए. कर्जमाफी की जगह कर्जमुक्ति करने की बात की गई थी लेकिन कुछ होता नही दिख रहा है. बीजेपी नेता फड़नवीस ने उद्धव ठाकरे के सीएए और एनपीआर का समर्थन करने के लिए धन्यवाद कहा. इसके साथ ही ये भी कहा कि अगर ये सरकार धर्म के आधार पर आरक्षण देने की बात करेगी तो उनकी पार्टी इसका पूरजोर विरोध करेगी.