बगदाद में दूसरे अमेरिकी हमले के बाद, डोनाल्ड ट्रंप बोले, ‘हम नहीं चाहते ईरान के साथ जंग’

0
134

वाशिंगटन: अमेरिकी हवाई हमले में टॉप ईरानी कमांडर कासिम सुलेमानी के मारे जाने के बाद ईरान (Iran) और अमेरिका (US) के संबंधों में तनाव चरम पर पहुंच गए हैं. इस बीच अमेरिका ने बगदाद में दूसरा हमला कर दिया है जिसमें ईरान समर्थित लड़ाकों को निशाना बनाया गया है.

वहीं राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने कहा है कि अमेरिका ईरान के साथ युद्ध शुरू नहीं करना चाहता है लेकिन अगर इस्‍लामिक देश ने कोई जवाबी कार्रवाई की तो अमेरिका इससे निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है.

गौरतलब है कि अमेरिका ने इस बीच बगदाद में एक और हवाई हमला कर दिया है. बताया जा रहा है कि अमेरिका ने यह हमला बगदाद के ताजी इलाके किया है. हवाई हमले में 6 लोगों की मौत हो गई है. हमले में मारे गए लोग ईरान समर्थक मिलिशिया हश्‍द अल-शाबी के बताए जा रहे हैं. हश्‍द अल-शाबी ईरान समर्थक पॉप्‍युलर मोबलाइजेशन फोर्सेस का दूसरा नाम है.

इस बीच खाड़ी देशों में बढ़ते तनाव को देखते हुए अमेरिका ने 3 हजार अतिरिक्‍त सैनिक भेजने का फैसला किया है.

कासिम सुलेमानी की मौत के बाद चरम पर तनाव
बता दें ईरान के इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स (IRGC) कुद्स फोर्स के प्रमुख जनरल कासिम सुलेमानी इराक की राजधानी बगदाद में गुरुवार रात अमेरिकी हवाई हमले में मारे गए. तेहरान स्थित प्रेस टीवी के मुताबिक, IRGC ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि हमले में हशद शाबी या इराकी पॉपुलर मोबलाइजेशन फोर्सेज (PMF) के डिप्टी कमांडर अबू महदी अल-मुहांदिस भी सुलेमानी के साथ मारे गए. बगदाद इंटरनेशनल एयरपोर्ट रोड पर उनके वाहन को निशाना बनाया गया.

ईरान ने दी बदला लेने की धमकी
इस हमले के बाद ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला सैय्यद अली खामेनी ने बदला लेने का संकल्प लिया है खामेनी ने कहा कि “धरती के सबसे क्रूर लोगों ने’ ‘सम्मानीय’ कमांडर की हत्या की, जिन्होंने दुनिया की बुराइयों और डकैतों के खिलाफ साहसपूर्वक लड़ाई लड़ी.”

उन्होंने कहा, “उनके निधन से उनका मिशन नहीं रुकेगा, लेकिन जिन अपराधियों ने गुरुवार रात जनरल सुलेमानी और अन्य शहीदों के खून से अपने हाथ रंगे हैं, उन्हें जरूर एक जबरदस्त बदले की, अंजाम भुगतने की प्रतीक्षा करनी चाहिए.” खामेनी ने कहा कि जारी लड़ाई और अंतिम जीत की उपलब्धि हत्यारों और अपराधियों की जिंदगी को और दुश्वर बना देगी.

वहीं अमेरिकी डिपार्टमेंट ऑफ डिफेंस की ओर से जारी बयान में कहा गया, ‘राष्ट्रपति के निर्देश पर अमेरिकी मिलिट्री ने अमेरिका की सुरक्षा के लिए इस निर्णायक सुरक्षात्मक कार्रवाई को अंजाम दिया जिसमें ईरानी रिवोल्यूशनरी गार्ड्स की कुद्स फोर्स के चीफ मेजर जनरल कासिम सुलेमानी की मौत हो गई.’