भारतीय अर्थव्यवस्था का आधार मजबूत है और इसकी नीतियां भी स्पष्ट हैं: पीएम मोदी

0
157

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने कहा वैश्विक अर्थव्यवस्था (Global Economy) इस समय कठिन परिस्थितियों से गुजर रही है, लेकिन भारतीय अर्थव्यवस्था (Indian Economy) का आधार मजबूत है और हमारी नीतियां भी स्पष्ट हैं. प्रधानमंत्री शुक्रवार को आयोजित ग्लोबल बिजनेस समिट 2020 (Global Business Summit 2020) में बोल रहे थे.

उन्होंने आगे कहा कि Economic हो या Social, देश आज परिवर्तन के एक बड़े दौर से गुजर रहा है. बीते कुछ वर्षों में भारत वैश्विक अर्थव्यवस्था प्रणाली मजबूत अंग बना है, लेकिन अलग-अलग कारणों से अंतर्राष्ट्रीय स्थितियां ऐसी हैं कि वैश्विक अर्थव्यवस्था कमजोर और कठिन हालत में है. फिर भी, हमने पहल की है ताकि भारतीय अर्थव्यवस्था पर इसका प्रभाव कम हो, हमने सक्रिय कदम उठाए हैं और हमारे कदमों का सकारात्मक परिणाम मिला.

इस क्रम में उन्होंने बताया कि प्राइवेट सेक्टर में तेजी आई है. इसलिए हमारी सरकार अर्थव्यवस्था के ज्यादा से ज्यादा सेक्टर्स को प्राइवेट सेक्टर के लिए खोल रही है. 2019 में देश में करीब 48 बिलियन डॉलर का प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) आया. ये ग्रोथ रेट 16 प्रतिशत से ज्यादा है. वहीं 2018 में 19 बिलियन डॉलर का प्राइवेट इक्विटी (PA) और वेंचर कैपिटल इंवेस्टमेंट (VCI) आया था. इसमें भी ग्रोथ रही 53 परसेंट से ज्यादा था.

प्रधानमंत्री ने कहा कि 21वीं सदी अपने आप में बहुत सी संभावनाओं से भरी हुई है. इन संभावनाओं के बीच, आज एक कॉमन ग्लोबल वॉयस की कमी महसूस हो रही है. कॉमन ग्लोबल वॉयस का मतलब एक ऐसी आवाज से है जिसमें स्वर भले अलग-अलग हों, लेकिन ये मिलकर एक सुर का निर्माण करें, एक सुर में अपनी आवाज उठाएं. एक समय था जब लोग समान दूरी बनाकर तटस्थ थे, हम समान दोस्ती करके तटस्थ हैं. उस कालखंड में दूरी रखकर, बचने की कोशिश की गई. लेकिन आज हम दोस्ती रखकर, साथ चलने की कोशिश कर रहे.