गुटीय संघर्ष, विवादित बयान को लेकर प्रदेश कांग्रेस समिति की अहम बैठक

0
116

भोपाल: मध्य प्रदेश कांग्रेस में आए दिन गुटीय संघर्ष, विवादित बयान और मंत्रियों के उदासीन रवैये की खबरे आ रही हैं. इसी से निपटने के लिए मंगलवार को भोपाल में कांग्रेस प्रदेश अनुशासन समिति की बैठक होने जा रही है.
इस मीटिंग में अनुशासनहीनता के मामलों के साथ ही आगे की रणनीति पर भी चर्चा होगी. शाम 5 बजे होने वाली मीटिंग में अनुशासन समिति के सामने करीब 16 मामले रखे जाएंगे. जिसमें विधानसभा चुनाव के दौरान हुई अनुशासनहीनता के साथ ही इंदौर में 26 जनवरी को दो नेताओं के बीच हुई हाथापाई पर फैसला हो सकता है.

बताया जा रहा है कि इंदौर की इस घटना से सीएम कमलनाथ नाराज चल रहे हैं.
वहीं पूर्व आईएफएस अधिकारी और पिछड़ा वर्ग विभाग के प्रदेश संयोजक आजाद सिंह डबास द्वारा राजगढ़ कलेक्टर पर कार्रवाई की मांग को लेकर मुख्यमंत्री को लिखे गए पत्र से भी संगठन नाराज है और ये मामला भी अनुशासन समिति में उठाया जाएगा.

क्या हुआ था इंदौर में
आपको बता दें 26 जनवरी के दिन कांग्रेस नेता देवेंद्र यादव और चंदू कुंजीर सीएम कमलनाथ के कार्यक्रम में मंच पर चढ़ने को लेकर आपस में भिड़ गए. दोनों ने एक-दूसरे पर थप्पड़ों की बरसात कर दी. वहीं, सीएम कमलनाथ के कार्यक्रम में पहुंचने पर कुछ कांग्रेस नेताओं के बीच धक्का-मुक्की की बात भी सामने आई है. इसका वीडियो भी प्रदेश में चर्चा का विषय रहा है.

डबास ने क्यों लिखा था कमलनाथ को पत्र?
पूर्व आईएफएस (IFS) अधिकारी और कांग्रेस पिछड़ा वर्ग विभाग के प्रदेश संयोजक आजाद सिंह डबास ने राजगढ़ कलेक्टर के खिलाफ मुख्यमंत्री कमलनाथ को पत्र लिखा है. आजाद सिंह डबास ने तीन पन्नों का पत्र लिखकर राजगढ़ कलेक्टर पर कार्रवाई की मांग की थी.
डबास ने इस पत्र की प्रतिलिपि मुख्य सचिव और आईएएस एसोसिएशन (IAS Association) के अध्यक्ष को भी भेजी है.